Buddhist monk Tich Nhat Han passes away : बौद्ध भिक्षु टिच नाट हान का निधन

हनोई, 22 जनवरी : वियतनाम के जाने माने बौद्ध भिक्षु टिच नाट हान का निधन हो गया है । वह 95 वर्ष के हैं।

पल्म गांव में हान द्वारा गठित मोनेस्टिक संस्था ने बताया कि वियतनाम में शनिवार को ह्यू के ट्यू हीयू मंदिर में भिक्षु का निधन हो गया।

हान के ट्विटर एकांउट पर दी गयी जानकारी में बताया गया “ हम वैश्विक आध्यात्मिक परिवार को कुछ समय के लिए मौन होेने के लिए आमंत्रित करते हैं ताकि इस दौरान हम उनके विचारों को आत्मसात कर सकें।”

हान का जन्म 1926 में हुआ था, वियतनाम युद्ध की खिलाफत के कारण उन्हें वियतनाम से 1960 में निर्वासित कर दिया गया था। वर्ष 1967 में डॉ मार्टिन लूथर किंग जूनियर ने टिच नाट हान नोबल पुरस्कार के लिए नामांकित किया और उन्हें शांति और अंहिसा का देवदूत बताया था।

निर्वासन के बाद भिक्षु दशकों तक फ्रांस में रहे और उन्होंने प्लम गांव की परंपरा की तर्ज पर दुनिया भर में मिशनरी और आध्यात्म केंद्र स्थापित किये। अपने जीवन के दौरान उन्होंने 100 से अधिक पुस्तक लिखे जिनका 40 से अधिक भाषाओं में अनुवाद किया गया। उनकी अंतिम किताब अक्टूबर 2021 में प्रकाशित हुई। रिपोर्ट के अनुसार वह वर्ष 2018 में वियतनाम लौटे और अधिकारियों के अनुमति से अंतिम दिनों में ट्यू हीयू मंदिर में रहे।

वार्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published.