Captain Amarinder Singh : कैप्टन अमरिंदर सिंह का नई पार्टी बनाने का ऐलान, पंजाब की सभी 117 सीटों पर उतारेंगे प्रत्याशी

चंडीगढ़ । पंजाब के पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि मैं एक पार्टी बना रहा हूं। अब सवाल ये है कि पार्टी का नाम क्या है, ये मैं आपको नहीं बता सकता क्योंकि ये मैं खुद नहीं जानता। जब चुनाव आयोग पार्टी के नाम और चिन्ह को मंजूर करता है, मैं आपको बता दूंगा, लेकिन पंजाब में हम भी 117 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे ।

कैप्टन ने बीएसएफ की अधिकार सीमा बढ़ाने के सवाल पर कहा किभारत सरकार जानती है कि ड्रोन आ रहे हैं, मुझे लगता है कि ये उन कारणों में से एक कारण है जिसकी वजह से उन्होंने बीएसएफ रेंज को 50 किलोमीटर तक बढ़ाया है ।

कांग्रेस से इस्तीफे पर उन्होंने जवाब दिया कि मैं पिछले 52 वर्षों से कांग्रेस में हूं। अगर मैं अगले 10 दिनों के लिए इस्तीफा नहीं देता हूं, तो इसमें क्या हर्ज है।

इससे पहले, अपने पूर्व कांग्रेस सहयोगियों द्वारा व्यक्तिगत हमलों का जवाब देते हुए, अमरिंदर सिंह ने मंगलवार को कहा था कि व्यक्तिगत हमलों के बाद अब वे लोग पटियाला और अन्य जगहों पर मेरे समर्थकों को धमका रहे है और उनको परेशाान कर रहे है।

“मैं अपने प्रतिद्वंद्वियों को बता दूं कि वे मुझे इस तरह के निम्न-स्तरीय राजनीतिक खेलों के जरिए मुझे नहीं हरा सकते है। वे इस तरह की रणनीति से न तो वोट जीत पाएंगे और न ही लोगों का दिल।”

उन्होंने कहा कि जो लोग मेरे साथ खड़े हैं, वह इन तब कृत्यों का जबाव इसलिए नहीं देते है, क्योंकि वे पंजाब की शांति और विकास में विश्वास करते हैं और काम करना जारी रखना चाहते हैं। वे डराने-धमकाने या उत्पीड़न के इस तरह के छोटे-छोटे कृत्यों से नहीं डरेंगे। हम पंजाब के भविष्य के लिए लड़ना जारी रखेंगे।

कांग्रेस को औपचारिक रूप से अलविदा कहते हुए अमरिंदर सिंह ने कहा कि वह जल्द ही लोगों के हितों की सेवा के लिए अपनी खुद की राजनीतिक पार्टी शुरू करने की घोषणा करेंगे। इनमें वे किसान भी शामिल हैं जो एक साल से अधिक समय से अपने अधिकारों के लिए संघर्ष कर रहे हैं।

उन्होंने यह भी कहा कि अगर किसानों के मुद्दों को उनके हित में हल किया जाता है, तो उन्हें राज्य में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए भाजपा के साथ सीट बंटवारे की व्यवस्था की उम्मीद है।

पूर्व मुख्यमंत्री कहा कि वह तब तक चैन से नहीं बैठेंगे जब तक कि वह अपने लोगों और अपने राज्य का भविष्य सुरक्षित नहीं कर लेते।

एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *