रणनीति बदल नक्सलवाद को किया काबू में- भूपेश बघेल

कोंडागांव, 28 मई : छत्त्सीगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि बस्तर संवेदनशील इलाके के जनजीवन में बड़ी तेजी से परिवर्तन आया है। बस्तर विकास की दिशा में तेजी से बढ़ रहा है। हम विश्वास विकास सुरक्षा को लेकर प्रदेश में कार्य कर रहे हैं। नक्सलवाद अब काबू में है।

मुख्यमंत्री श्री बघेल आज यहां पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि राज्य के नक्सल प्रभावित इलाकों में हथियारबंद माओवादियों से निपटने राज्य सरकार ने नए फॉर्मूले पर काम किया है। यही वजह है कि अति नक्सल प्रभावित इलाकों के रूप में पहचाने जाने वाले क्षेत्रों में भी नक्सलवाद अब काबू में है।

श्री बघेल ने कहा कि बस्तर के सुदूरवर्ती इलाकों में रहने वाले लोगों के लिए योजनाएं तैयार कर हमने पहल की, जिससे वनवासी आकर्षित हुए और मुख्य धारा से जुड़ने लगे। इलाके की मूल समस्याओं को एड्रेस करने की शुरुआत हुई, जिसके सकारात्मक परिणाम दिख रहे हैं। वनवासी जो चाहते थे, उन्हें मिल रहा है। गोली के बदले गोली हमारा फॉर्मूला नहीं है। हम लोगों में विश्वास जगा रहे हैं और योजनाओं का ग्रास रूट लेवल पर इंप्लीमेंटेशन हो रहा है। उन्होंने अबूझमाड़ के 2500 परिवारों को पट्टा वितरित हो जाने को एक उदाहरण बताया।

उन्होंने कहा कि पुलिस और पैरामिलेट्री फोर्स के बीच की दूरी को हमने पाटा। जवानों को पहले वनांचलवासी अपना दुश्मन नंबर एक समझते थे। अब हालात ऐसे नहीं हैं। कभी कैंपों का विरोध होता था, लेकिन अब लोग स्वयं कैंप खोलने आवेदन दे रहे हैं। राज्य सरकार की योजनाओं से लोगों की आय बढ़ी, तो लोगों के जेब में पैसा आया है। यही कारण है कि साढ़े 3 साल में नक्सली कम हुए। नक्सली अब संगठन में भर्तियां तक नहीं कर पा रहे हैं। ग्रामीणों को काम मिलेगा तो नक्सली भर्तियों पर पूरी तरह से अंकुश लग जाएगा और नक्सलियों का संगठन अपने आप खत्म हो जाएगा।

माओवादियों से बातचीत के प्रस्ताव पर उन्होंने कहा कि समाजों, संगठनों, बुध्दिजीवियों और पत्रकारों से वे बात कर रहे हैं। पहले इनसे बातचीत का दौर खत्म हो जाए, फिर आगे की बात करेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि अब गोलियां भी कम चल रही हैं। उन्होंने कहा कि नरवा के कामों की मॉनीटरिंग जिला कलेक्टर स्वयं करें। जमीन एवं वनों के वास्तविक स्वामी आदिवासी हैं, वन विभाग की जिम्मेदारी सिर्फ प्रबंधक की है।

वार्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published.