China Anti Social Act Update : चीन के सरकारी मीडिया में दिखाई गई मोहम्मद साहब की तस्वीर, पाकिस्तान ने साधी चुप्पी

धार्मिक आस्था को पहुंचाई ठेस

हिन्दुस्थान समाचार / अनूप शर्मा

नई दिल्ली, 17 नवम्बर : फ्रांस में पैगंबर मोहम्मद साहब की तस्वीरें सार्वजनिक तौर पर दिखाए जाने को लेकर मुखर रहा पाकिस्तान इसी तरह के मामले में चीन को लेकर खामोश है। चीन के सरकारी टेलीविजन ने हाल ही में प्रसारित इतिहास पर आधारित एक शो में मोहम्मद साहब की तस्वीर दिखाई थी।

चीन के सरकारी चैनल चाइना सेंट्रल टेलीविजन ने इस शो को प्रसारित किया था। उइगर मुसलमानों के लिए काम करने वाले कार्यकर्ता अर्शनाल हिदायत ने इससे जुड़ी एक क्लिप ट्विटर पर साझा की थी। इस क्लिप में चीनी राजवंश के दरबार में एक अरबी राजदूत आकर राजा को पैगंबर मोहम्मद साहब की एक तस्वीर भेंट करता है ।

सोशल मीडिया पर इस क्लिप के जारी होने के बाद से अब तक पाकिस्तान सहित मुस्लिम देशों की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। दुनिया में इस्लामोफोबिया की बात कह कर मुस्लिम देशों का नेतृत्व पाने के लिए प्रयासरत देश चीन से जुड़े ऐसे हर मामले में चुप्पी साध लेते हैं। चीन में उइगर मुसलमानों की स्थिति जग जाहिर है लेकिन पाकिस्तान, तुर्की और मलेशिया जैसे देश इस पर भी चुप्पी साधे हुए हैं। ये देश अक्सर भारत को निशाना बनाते हैं लेकिन चीन के मामले में कुछ नहीं कहते। सोशल मीडिया के माध्यम से लोग अब इन देशों से सवाल पूछ रहे हैं कि क्या वह चीनी सामानों का बहिष्कार करेंगे, जैसा कि उन्होंने फ्रांस के साथ करने की कोशिश की है।

फ्रांस की पत्रिका चार्ली हेब्दो में एक बार फिर पैगंबर मोहम्मद का रेखाचित्र छपा था। इसी को दिखाने के चलते एक स्कूल शिक्षक की निर्मम हत्या की गई थी। इसके बाद फ्रांस में इसके विरोध में सार्वजनिक स्थानों पर मोहम्मद साहब के रेखाचित्र प्रदर्शित किए गए थे।

इसी को लेकर दुनिया के मुस्लिम देशों के शीर्ष नेतृत्व ने विरोध दर्ज कराया था, जिसमें पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान भी शामिल रहे हैं। हालांकि अब ऐसे ही एक मामले में चीन पर वह चुप्पी साधे हुए हैं। यहां तक कि उन्होंने कभी चीन को उइगर मुसलमानों को लेकर भी कुछ नहीं कहा।

एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published.