चीन का सेमीकंडक्टर उत्पादन 12.1 प्रतिशत घटकर 2020 के बाद सबसे निचले स्तर पर पहुंचा

बीजिंग: चीन को बड़ा झटका लगा है, क्योंकि अप्रैल में उसका सेमीकंडक्टर उत्पादन 12.1 प्रतिशत घटकर 25.9 अरब यूनिट रह गया है, जो दिसंबर 2020 के बाद सबसे कम है। रसद (लॉजिस्टिक) मुद्दों के बीच बाधित आपूर्ति श्रृंखला ने देश के कुछ सबसे बड़े विनिमार्ताओं को पंगु बना दिया है।

नेशनल ब्यूरो ऑफ स्टैटिस्टिक्स द्वारा जारी आंकड़ों के हवाले से साउथ चाइना मॉनिर्ंग पोस्ट की रिपोर्ट में कहा गया है, चीन में चिप्स का मासिक उत्पादन 2020 के बाद से अपने सबसे निचले स्तर तक सिकुड़ गया है, क्योंकि शंघाई और अन्य शहरों में सख्त लॉकडाउन ने डाउनस्ट्रीम उद्योगों में कारों से लेकर रोबोटिक्स तक उत्पादन को बाधित कर दिया है।

शंघाई ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन के मुताबिक, पूरे अप्रैल महीने में एक भी वाहन नहीं बिका, जबकि सामान्य तौर पर शहर में रोजाना करीब 4,000 वाहन बेचे जाते हैं।

पिछले साल अप्रैल में, स्थानीय चिप उत्पादन सालाना आधार पर 29.4 प्रतिशत बढ़कर 28.6 अरब यूनिट्स दर्ज किया गया था। इस साल के पहले चार महीनों में चीन के चिप आयात में भी गिरावट आई है। शंघाई का लक्ष्य 1 जून से सामान्य जीवन को फिर से संचालित और शुरू करना है।

सोमवार को महामारी की रोकथाम और नियंत्रण पर आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के अनुसार, इसने अपने 16 में से 15 जिलों में कोविड-19 के मद्देनजर संक्रमण को रोकने के लिए उपाय किए हैं।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, वर्तमान में, बंद प्रबंधन क्षेत्रों में रहने वाले लोगों की संख्या 10 लाख से अधिक नहीं रह गई है और महामारी को प्रभावी ढंग से नियंत्रण में लाया गया है।

शंघाई के उप महापौर जोंग मिंग ने कहा कि शंघाई ने आने वाले समय के लिए अपने महामारी नियंत्रण कार्य की योजना बनाई है, इसे तीन चरणों में विभाजित किया है।

जोंग के अनुसार, 1 जून से मध्य जून तक, शंघाई मानक महामारी की रोकथाम और नियंत्रण उपायों के साथ शहर भर में उत्पादन और जीवन के सामान्य क्रम को पूरी तरह से बहाल करेगा, जबकि महामारी के किसी भी पुनरुत्थान को सख्ती से रोकेगा।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published.