Civil court Ranchi : सिविल कोर्ट की धीरे-धीरे लौट रही रौनक

Insight Online News

रांची, 04 जून : रांची सिविल कोर्ट की रौनक धीरे -धीरे फिर से वापस लौटने लगी है। लगभग डेढ़ महीने के बाद खुद को कोरोना के बढ़ते संक्रमण की वजह से न्यायिक कार्यों से दूर रखने वाले अधिवक्ता एक बार फिर कोरोना के संकट के बीच न्यायिक कार्यों में हिस्सा लेने लगे हैं।

रांची सिविल कोर्ट के अधिवक्ता शुक्रवार से अपने पक्षकारों के लिए वर्चुअल माध्यम से कोर्ट के समक्ष बहस और जिरह करते हुए दिखें। रांची जिला बार एसोसिएशन के अध्यक्ष शंभू अग्रवाल ने रांची के सभी अधिवक्ताओं से खुद को महफूज रखते हुए न्यायिक कार्यों में दोबारा शामिल होने की अपील की है ताकि वकीलों के बीच संक्रमण का खतरा भी न हो और लोगों को न्याय दिलाने में अधिवक्ता अपनी भूमिका भी निभा सकें।
बताया गया कि सिर्फ रांची बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार से इस पूरे लॉकडाउन के दौरान लगभग 700 से 800 विचाराधीन कैदियों के वकालतनामा साइन होकर आया हैं जिसकी फाईलिंग अगले एक दो दिनों में होगी।

झारखंड स्टेट बार काउंसिल के सदस्य संजय विद्रोही ने कहा कि राज्य सरकार एवं स्टेट बार काउंसिल के द्वारा जारी किये गए गाइडलाइन का पूरी तरह पालन करते हुए अधिवक्ता न्यायिक कार्यों का निष्पादन करें। अधिवक्ता ऐसे काम करें कि उन्हें अदालत परिसर में शारीरिक रूप से कम से कम जाना पड़े। सिविल कोर्ट परिसर में बेवजह भीड़ ना लगाएं।

हिन्दुस्थान समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES