Coal Mining: पश्चिम बंगाल में अवैध कोयला व्यापार मामले में सीबीआई ने की छापेमारी

कोलकाता। सीबीआई ने बुधवार को ईस्टर्न कोलफील्ड लिमिटेड (ईसीएल) से अवैध कोयला खनन करने और चोरी करने के मामले में पश्चिम बंगाल के आसनसोल, दुगार्पुर और रानीगंज इलाकों में 10 जगहों पर छापे मारे। सूत्रों के अनुसार, लगभग 75 सीबीआई अधिकारी इस ऑपरेशन में शामिल हैं। इस छापेमारी में रैकेट के सरगना अनूप माझी उर्फ लाला और उसके साथी बिनॉय मिश्रा के रिश्तेदारों के घर शामिल हैं।

सोमवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कोयला घोटाले को लेकर राज्य भर में 12 स्थानों पर छापे मारे थे, इसमें व्यवसायी गणेश बगाड़िया और संजय सिंह के दफ्तर और घर शामिल थे। ये छापे कोलकाता के लेक टाउन क्षेत्र, गरिया, हुगली जिले के कोननगर के कानाईपुर और उत्तर 24-परगना में मारे गए। कथित तौर पर बगाड़िया और सिंह दोनों ही माझी से जुड़े थे, जो मिश्रा के साथ मिलकर सिंडिकेट चलाता है।

बता दें कि पिछले साल 28 नवंबर को सीबीआई की भ्रष्टाचार निरोधक शाखा ने पश्चिम बंगाल, बिहार, झारखंड और उत्तर प्रदेश में 45 जगहों पर कोयला तस्करी रैकेट को पकड़ने के लिए छापे मारे थे। इस दौरान माझी के कुछ सहयोगियों के घरों पर भी तलाशी ली गई, जो बंगाल-झारखंड सीमा के साथ कोयला बेल्ट में खुलकर अवैध कारोबार करते हैं।

सूत्रों ने बताया कि आयकर अधिकारियों ने बुधवार को बुरार्बाजार इलाके में पूर्व विधायक मोहम्मद सोहराब के घर और होटल पर बंगाल में पशु तस्करी का रैकेट चलाने और आय से अधिक संपत्ति रखने के मामले में भी छापेमारी की।

-Agency

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *