Commendable initiative of Vishwa Hindu Parishad : हिंदू धर्म में घरवापसी का अभियान चलाएगी विश्व हिंदू परिषद: आलोक कुमार

जूनागढ़ (गुजरात)। विश्व हिंदू परिषद (विहिप) की केंद्रीय प्रन्यासी मंडल और प्रबंध समिति की तीन दिवसीय बैठक का शुक्रवार को गुजरात के जूनागढ़ स्थित स्वामी नारायण सुवर्ण मुख्य मंदिर परिसर में शुभारंभ हुआ। उद्घाटन सत्र में विहिप के अंतरराष्ट्रीय कार्याध्यक्ष अलोक कुमार ने घोषणा की कि विहिप मुस्लिमों की घर वापसी का देशव्यापी अभियान चलाएगी। उन्होंने कहा कि हिंदुओं के अस्तित्व को बचाने के लिए अपना बलिदान देने वाले गुरु तेगबहादुर की शिक्षाओं के प्रचार-प्रसार के लिए देशभर में कार्यक्रम भी आयोजित किए जाएंगे।

आलोक कुमार ने कहा कि जनजातीय जब धर्मांतरण करता है तो वह अपने सभी देवी-देवता और परम्पराएं छोड़ देता है। हमारी मांग है कि ऐसे लोगों को आरक्षण नहीं मिलना चाहिए। ईसाइयों ने 350 साल तक अत्याचार किया है। इसको लेकर पोप के भारत आने पर वो क्षमा मांगें और यह घोषणा करें कि सब धर्मों के प्रति आदर रखते हुए भारत में धर्मांतरण बंद करने की मांग करेंगे। उन्होंने कहा कि विहिप पर्यावरण रक्षा पर एक व्यापक योजना बनाकर काम करेगी। धर्मप्रसार, धर्माचार्य, मठ-मंदिर, अर्चक-पुजारियों एवं धर्मयात्राओं पर कार्य करने की दिशा में आगे बढ़ेंगे। उन्होंने कहा कि हितचिंतक अभियान में 40-50 लाख हितचिंतक बनाएंगे। समरसता के भाव को समाज में लाने का प्रयास करेंगे।

विहिप कार्याध्यक्ष ने कहा कि विहिप संतों के मार्गदर्शन पर कार्य करता है। इस बैठक का उद्देश्य कोरोना काल के बाद कार्यकर्ताओं के एकत्र होने से ही पूरा हो गया है। ये शताब्दी हिंदू शताब्दी है। हम तीन दिन जूनागढ़ में आयोजित हो रही प्रन्यासी मंडल की इस बैठक में रहकर अपने संकल्प का स्मरण करेंगे। विहिप 60 वर्ष का हो रहा है। इस अवसर पर हम अपनी कार्यवृद्धि और गुणात्मकता बढ़ाने पर विचार करेंगे। धर्मप्रसार, बजरंगदल, दुर्गावाहिनी के कार्य पर विचार करेंगे। पूरे विश्व के हिंदुओं की चिंता करने वाली विहिप विश्व समन्वय बढ़ाने का विचार करेगी।

उद्घाटन सत्र में अखिल भारतीय साधु समाज के अध्यक्ष स्वामी मुक्तानंद महाराज ने कहा कि हम चाहते हैं कि हमारा देश हर क्षेत्र में अग्रणी बने। हमारा राष्ट्र विश्व का मार्गदर्शन करता रहे। उद्घाटन कार्यक्रम में प्रमुख रूप से स्वामी सद्गुरु कोठारी देवनंदन दास, विहिप के अध्यक्ष डॉ. आरएन सिंह, महामंत्री मिलिन्द परांडे और जर्मनी, थाइलैंड, बांग्लादेश एवं नेपाल के पदाधिकारियों सहित विहिप के अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *