विभिन्न सेक्टर्स में निवेश के लिए संबंधित विभाग प्रयास बढ़ाएं : शिवराज

भोपाल, 06 दिसम्बर। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि जनवरी में इंदौर में आयोजित ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट और प्रवासी भारतीय सम्मेलन में विभिन्न देशों से महत्वपूर्ण प्रतिनिधियों को आमंत्रित किया गया है और राज्य के विभिन्न विभाग अलग-अलग क्षेत्रों में निवेश के लिए प्रयास बढ़ाएं।

श्री चौहान कल एक बैठक में जनवरी माह में इंदौर में होने वाली ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट और प्रवासी भारतीय दिवस एवं सम्मेलन की अब तक हुईं व्यवस्थाओं और तैयारियों की जानकारी प्राप्त कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने समिट के आयोजन के संबंध में विभिन्न विभागों के अधिकारियों को निर्देश भी दिए।

आधिकारिक जानकारी के अनुसार श्री चौहान ने कहा कि दोनों कार्यक्रमों का उद्देश्य है कि देश विदेश के महत्वपूर्ण औद्योगिक संस्थान मध्यप्रदेश में अधिक से अधिक निवेश करें। औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन विभाग के साथ ही अन्य संबंधित विभाग भी विभिन्न सेक्टर्स में निवेश वृद्धि के लिए आवश्यक प्रयास करें। विभागों के परस्पर समन्वय से इस समिट और सम्मेलन को सफलता मिलेगी। विशेष रूप से ऊर्जा, पर्यटन, कृषि, खाद्य प्रसंस्करण, रियल स्टेट आदि क्षेत्रों में उपलब्ध संभावनाओं के अनुरूप निवेश आने में आसानी होगी।

आगामी 8 से 10 जनवरी 2023 तक प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन और 11 एवं 12 जनवरी 2023 को ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के लिए इंदौर में इस वर्ष के प्रारंभ से ही जरूरी तैयारियां शुरू कर दी गई थीं।

बैठक में मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव प्रवासी भारतीय विभाग मोहम्मद सुलेमान, प्रमुख सचिव मनीष सिंह औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन विभाग और मध्यप्रदेश इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन लिमिटेड (एमपीआईडीसी) के प्रबंध निदेशक मनीष सिंह भी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान कहा कि आमंत्रित प्रतिनिधियों के सम्मान और सभी व्यवस्थाओं का ध्यान रखा जाए। जो प्रतिनिधि श्री महाकाल लोक उज्जैन जाना चाहते हों, उन्हें भी आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएं। इस समिट और प्रवासी भारतीय सम्मेलन में विभिन्न देशों के राजदूत, केंद्रीय मंत्री, प्रमुख उद्योगपति आ रहे हैं।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि समिट और प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन के लिए विभिन्न विभागों द्वारा भी आवश्यक तैयारियां की जाएं। इस अवसर पर प्रमुख सचिव श्री सिंह ने देश के प्रमुख औद्योगिक संस्थान के साथ ही विभिन्न देशों के प्रतिनिधियों से हुए संवाद का उल्लेख करते हुए बताया कि अनेक प्रतिनिधि प्रदेश में निवेश के लिए इच्छुक हैं।

वार्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *