Congress Control Room Update : कोविड मरीजों और आमजनों को दिया गया आनलाइन परामर्श

Insight Online News

रांची, 02 मई : झारखंड कांग्रेस कोविड कंट्रोल रूम में हेड मेडिसिन प्रोफेशनल्स डाॅ पी नैयर के साथ रविवार को मनोचिकित्सक डाॅ सुयस, डाॅ सौरव वर्मा ने कोविड मरीजों व आमलोगों को आनलाइन परामर्श दिया। साथ ही जीवन के एक एक दिन खुशहाल तरीके से जीने की कला सिखायी।

इस मौके पर प्रोफेशनल कांग्रेस के अध्यक्ष आदित्य विक्रम जायसवाल, खेल प्रकोष्ठ के अध्यक्ष अमरेन्द्र सिंह, सेवादल अध्यक्ष नेली नाथन, प्रोफेशनल कांग्रेस सचिव ख्याति मुंजाल, अखिल भारतीय युवा कायस्थ के अध्यक्ष सौरभ वर्मा उपस्थित थे।

आदित्य विक्रम जायसवाल ने कहा कि प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष सह मंत्री रामेश्वर उरांव के निर्देश पर एवं कोविड कंट्रोल रूम के संयोजक प्रदीप तुलस्यान के मार्गदर्शन पर प्रोफेशनल कांग्रेस के डाॅक्टरों के द्वारा ऑनलाइन परामर्श लोगों के दिया जा रहा है। इससे काफी लोग इस कोराना संकट काल में लाभान्वित हो रहे है। डाॅक्टरों ने कोविड मरीजों के अलावा आमलोगों को स्वस्थ्य जीवन जीने का कला बताया तथा कोरोना के इस जंग में कैसे जीत हासिल करें इसके बारे में विस्तार पूर्वक बताया गया।

डाॅ पी नैयर ने कहा कि कोविड कंट्रोल रूम आमलोगों को काफी मेडिकल सहायता पहुंचा रही है। यह सोच कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, प्रभारी आरपीएन सिंह, रामेश्वर उरांव की है, जिससे पूरे राज्य भर के कोविड मरीजों को मदद मिल रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस कंट्रोल रूम में मरीजों को परामर्श देने के साथ-साथ बेड, ऑक्सीजन वेंटीलेटर एवं इंजेक्शन तक उपलब्ध कराने में योगदान दे रहे हैं।

डॉ सुयस सिन्हा ने बताया कि कोरोना संकट काल में हर व्यक्ति के अंदर तनाव आना लाजमी है। इसे दूर करके ही सुखद जीवन जी सकते है। हमेशा सकारात्मक सोच के साथ दिन की शुरूआत करें
अभी जीवन के एक एक पल बहुत ही महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि यह एक असमान्य स्थिति है। इसलिए तनाव होगा, इससे घबराने की जरूरत नहीं है। मन में कोई दुविधा नहीं रखें। अपनी बात को शेयर करें। सिर्फ एक दिन के बारे में सोचने की ज्यादा जरूरत नहीं है। अपने रिश्तेदारों से हमेशा बात करें। परिवार के साथ अच्छा समय बिताएं। ब्रीदिंग योग व मेडिटेशन करें।

उन्होंने बताया कि मानव जीवन के लिए यह समय बहुत ही कठिन है। पूरी सतर्कता के साथ जीवन जीने की जरूरत है। हमारे पास बहुत समय है। सकारात्मक रूप से सदुपयोग करने की जरूरत है। खाने का समय जरूर तय होना चाहिए। नियमित रूप से व्यायाम करें और इससे अपने परिवार के सदस्यों को भी प्रेरित करें।

हिन्दुस्थान समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *