Congress Jharkhand : नये कृषि कानून के विरोध में कांग्रेस की ट्रैक्टर रैली

Insight Online News

रांची, 31 जनवरी : केंद्र सरकार की तीन नये कृषि कानून के विरोध में रविवार को कांग्रेस ने ट्रैक्टर रैली का आयोजन किया। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत गोड्डा के कारगिल चौक से देवघर के लिए ट्रैक्टर रैली का आयोजन हुआ। कार्यक्रम की शुरूआत राज्य के कृषि मंत्री बादल पत्रलेख के साथ जामताड़ा विधायक सह अल्पसंख्यक आयोग के चेयरमैन डॉ इरफान अंसारी और पौड़ेयाहाट विधायक प्रदीप यादव ने संयुक्त रूप से सिद्धो कान्हू की प्रतिमा पर माल्यार्पण से शुरू हुआ।

मौके पर राज्य कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने कहा कि किसानों को प्रधानमंत्री मोदी की सरकार ने छलने का काम किया है। किसानों का ऋण माफ होगा। सुविधा मिलेगी, लेकिन आज तक कोई समाधान नहीं निकला। उन्होंने कहा कि राज्य की हेमंत सरकार ने जो कहा वो कर दिखाया है। किसानों का ऋण माफ हुआ और आगे भी कई योजना है।

वहीं, पोड़ैयाहाट विधायक प्रदीप यादव ने कहा कि संताल परगना की धरती सिद्धो कान्हू जैसे शहीदों की धरती है। यहां के किसान और युवा नौजवान लगातार आंदोलन किया है। मोदी सरकार किसानी व्यवस्था चौपट करना चाहती है। कोरोना काल में लोग दाने- दाने को मोहताज हुए। झारखंड के लोग मुंबई और दिल्ली से पैदल चले। ये मोदी की देन है। अब किसानों को कॉर्पोरेट के हाथों सौंपने के लिए काला कानून लाया गया है। कांग्रेस का निर्णय देश के पक्ष में था अब मोदी सरकार का निर्णय उद्योगपतियों के पक्ष में होता है।
डॉ इरफान अंसारी ने कहा कि किसान को दान नहीं बल्कि दाम चाहिए। मोदी सरकार किसानों को भुलावे में रखना चाहती है। गोड्डा के बाद अब जामताड़ा से कचिया और हसुआ रैली निकाली जायेगा। इधर, दर्जनों ट्रैक्टर एक साथ गोड्डा के कारगिल चौक से देवघर के लिए निकला। इस दौरान काफी संख्या में कार्यकर्ता नारा लगाते हुए आगे बढ़े।
इस दौरान ट्रैक्टर रैली में शामिल नेताओं को सरकंडा, भटड़िहा, हरियारी तथा पोड़ैयाहाट बाजार में जगह- जगह माला पहनाकर कार्यकर्त्ताओं ने स्वागत किया। पोड़ैयाहाट से करीब 300 ट्रैक्टर का काफिला आगे की ओर बढ़ा।

हिन्दुस्थान समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *