Congress Update : लोकतंत्र की हत्या पर उतारू है केंद्र सरकार: तारिक अनवर

Insight Online News

पटना: राजीव गांधी स्टडी सर्किल के तत्वाधान में भारतीय लोकतंत्र की ज्वलंत चुनौतियां पर एक परिसंवाद का आयोजन होटल सम्राट इंटनेशनल में किया गया। परिसंवाद के उद्घाटनकर्ता बिहार कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डॉ मदन मोहन झा और मुख्य अतिथि अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के महासचिव तारिक अनवर रहें।

अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के महासचिव तारिक अनवर ने अपने उद्बोधन में कहा कि देश बहुत गंभीर दौर से गुजर रहा है। देश की संवैधानिक संस्थाएं खतरे में हैं। सच बोलने वाले को चुप कराने और डराने के लिए सरकार द्वारा प्रताड़ित किया जा रहा है। मीडिया को सच बताने से रोका जा रहा है। उन्होंने कहा कि भारतीय लोकतंत्र के मजबूती के लिए लोगों की मजबूती बहुत जरूरी है, जिसे वर्तमान सरकार कमजोर करने पर तुली हुई है। लोकतंत्र हमारे देश की बुनियाद है। हमारे पूर्वजों ने जब देश की आजादी की लड़ाई लड़ी तो उन्होंने लोकतंत्र का चुनाव किया ताकि देश के प्रत्येक नागरिक को समान अधिकार मिल सकें। आज जिनके हाथ में सत्ता है वो अलोकतांत्रिक लोग हैं। उन्होंने लोकतांत्रिक मूल्यों पर बोलते हुए कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ बगैर संविधान का निर्मित संस्था है और देश की लोकतंत्र पर अपनी उसी विचारधारा को थोपने का काम करती है। वर्तमान सरकार के खिलाफ बोलने वाले को दबाने का काम इस संगठन से दीक्षित लोग कर रहें हैं। सरकार सम्पोषित तानाशाही के इस दौर में लिखने बोलने तक की आजादी को छीन लिया गया है। उन्होंने जोर देकर कहा कि लोकतंत्र को बचाना है तो हमें फासिस्ट ताकतों को रोकना होगा। इतिहास गवाह रहा है कि विश्व के सभी तानाशाह लोकतांत्रिक रूप से चुनकर आने के बाद सत्ता लोभ में पद पर बने रहने के लिए लोकतंत्र की हत्या कर देश के शासन व्यवस्था को अपने हाथों में ले लेते हैं। वर्तमान सरकार अपनी विचारधारा को थोपने के लिए लोकतांत्रिक संस्थाओं पर कब्जा करने की जुगत में दिन रात लगी हुई है।

उन्होंने पेगासस जासूसी कांड पर बोलते हुए कहा कि देश के प्रमुख लोगों की जासूसी कर मोदी सरकार ने यह साबित किया कि वो भयभीत है और येन केन प्रकारेण सत्ता को नियंत्रित करने के लिए सबसे निचले स्तर तक गिर चुकी है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ मदन मोहन झा ने अपने सम्बोधन में कहा कि लोकतंत्र की मजबूती के लिए युवाओं को आगे आना होगा। देश के युवा और प्रत्येक नागरिक को देश बचाने के लिए अपनी जिम्मेदारियों को समझना होगा। लोकतंत्र की मजबूती के लिए लोगों को अपने अधिकारों और कर्तव्यों के प्रति जिम्मेदार होना होगा। डॉ झा ने कहा कि हाल में जासूसी प्रकरण ने देश के लोकतंत्र पर जो कुठाराघात कोय है वो अक्षम्य है। देश को तोड़ने वाले लोगों को सरकार चलाने की जिम्मेदारी दे दी गयी है। जनता को जागृत होना पड़ेगा तभी देश में लोकतंत्र की रक्षा हो सकेगी।

बिहार कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष श्याम सुंदर सिंह धीरज ने कहा कि देश शैक्षणिक माहौल को खत्म किया जा रहा है। देश में महंगाई चरम पर है और ऐसे में शिक्षा प्रत्येक बच्चों तक पहुंचे इसके लिए सरकार को गंभीर होने की जरूरत है।

राजीव गांधी स्टडी सर्किल के राज्य समन्वयक प्रो. डॉ रामायण प्रसाद यादव ने गोष्ठी के अध्यक्षीय सम्बोधन में कहा कि लोकतंत्र केवल शासन प्रणाली नहीं है बल्कि नागरिकों के न्यूनतम अधिकारों की रक्षा करने की प्रणाली भी है। 21वीं सदी में वैश्विक प्रतिस्पर्धा के दौर में लोकतंत्र की मजबूती बहुत जरूरी है।

इस परिसंवाद को पूर्व विधायक सतीश कुमार, गजानन्द शाही, प्रदेश मीडिया विभाग के चेयरमैन राजेश राठौड़, इंटक नेता चन्द्रप्रकाश सिंह, डॉ अजय सिंह, जमाल अहमद भल्लू ,स्नेहाशीष वर्धन पांडेय आदि प्रमुख लोगों ने सम्बोधित किया।

धन्यवाद ज्ञापन बिहार कांग्रेस के पूर्व महासचिव प्रो डॉ अंबुज किशोर झा ने किया।
परिसंवाद में मुख्य रूप से संजय पासवान, हरिनारायण द्विवेदी, प्रो श्यामजी मिश्र, प्रो विभूति शरण, तमन्ना, चंद्रिका यादव, दुर्गा प्रसाद गुप्ता, अजय सिंह सहित सैकड़ों लोग रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *