चीन में घमासान: पूर्व राष्ट्रपति बैठक से निकाले गए, प्रधानमंत्री सेंट्रल कमेटी से बाहर

बीजिंग, 22 अक्टूबर । चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग को तीसरा कार्यकाल प्रदान करने के लिए आयोजित चीनी सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी के राष्ट्रीय सम्मेलन में बहुत कुछ ऐसा घटा, जिसकी सूचनाएं छन-छन कर बाहर आ रही हैं। इसमें शी जिनपिंग ने अपनी ताकत दिखाई है। पूर्व राष्ट्रपति हू जिन्ताओ को राष्ट्रीय सम्मेलन से जबरन बाहर निकाल दिया गया, वहीं प्रधानमंत्री ली केकियांग को पार्टी की सेंट्रल कमेटी से बाहर कर दिया गया।

चीन के मौजूदा राष्ट्रपति शी जिनपिंग को राष्ट्रपति के तौर पर तीसरा कार्यकाल प्रदान करने की मंजूरी देने के लिए आयोजित सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी का राष्ट्रीय सम्मेलन शनिवार को समाप्त हो गया। सम्मेलन समापन से पहले शी जिनपिंग ने अपनी ताकत दिखाते हुए अपने विरोधियों को ठिकाने लगाने का संदेश दिया। पार्टी सम्मेलन के समापन सत्र में पूर्व राष्ट्रपति शी जिनपिंग को जबरन बाहर निकाल दिया गया। इस घटनाक्रम का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस वीडियो में साफ दिख रहा है कि राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बगल वाली कुर्सी पर 79 वर्षीय हू जिन्ताओ बैठे थे। अचानक दो सुरक्षा गार्ड आकर उनसे कुछ कहते हैं। वे जिन्ताओ का हाथ पकड़कर उठाते हैं। इस दौरान वे असमंजस में दिखाई देते हैं और इस तरह उठाने का विरोध भी करते हैं तो वे सुरक्षा गार्ड उन्हें जबरन उठाकर बाहर ले जाते हैं।

जिस समय यह घटनाक्रम हुआ, उस समय सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी के 2300 से अधिक प्रतिनिधि सभागार में मौजूद थे। वीडियो में साफ दिखाई पड़ रहा है कि राष्ट्रपति जिपनिंग उनके पास वाली कुर्सी में बैठे हैं। जिन्ताओ को जिनिपिंग से कुछ कहते हुए भी देखा जा सकता है। जिनपिंग कुछ जवाब भी देते हैं, जिसके बाद सुरक्षाकर्मी जिन्ताओ को पकड़कर बाहर ले जाते हैं। जिनपिंग ने सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी का केंद्रीय नेतृत्व भी अपने हिसाब से निर्धारित किया है। देश में दूसरे नंबर की स्थिति रखने वाले नेता व प्रधानमंत्री ली केकियांग को कम्युनिस्ट पार्टी सेंट्रल कमेटी से बाहर कर दिया गया है। सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी की नई 205 सदस्यीय सेंट्रल कमेटी की नई सूची में सम्मेलन का अंतिम दिन जारी की गई, जिसमें केकियांग का नाम शामिल नहीं था।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *