Cryptocurrency Craze In India: भारत में प्रतिबंध की तैयारी, दूसरी ओर क्रिप्टो ट्रेडिंग का क्रेज भी आसमान पर

नई दिल्ली। एक ओर देश में क्रिप्टोकरेंसी को लेकर सरकार की ओर से बिल तैयार किया जा चुका है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर आरबीआई गवर्नर तक इसे लेकर निवेशकों को चेता चुके हैं। वहीं दूसरी ओर देश में इस उतार-चढ़ाव भरे कारोबार के प्रति लोकप्रियता बढ़ती जा रही है। भारतीयों के क्रिप्टो के क्रेज का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि देश के सबसे बड़े क्रिप्टो एक्सजेंज वजीरएक्स का ट्रेडिंग वॉल्यूम कई गुना बढ़ गया है। 

वजीरएक्स ने सोशल मीडिया पर जानकारी साझा करते हुए कहा कि उसका ट्रेडिंग वॉल्यूम 1735 प्रतिशत बढ़ गया है। एक्सचेंज की ओर से बताया गया कि ट्रेडिंग वॉल्यूम बढ़कर 43 अरब डॉलर के स्तर पर पहुंच गया है। यानि एक साल के भीतर एक्सचेंज के जरिये इतनी मूल्य के खरीद और बिक्री के सौदे किये गये। 2020 के मुकाबले यह 1735 प्रतिशत की बढ़त है। 

गौरतलब है कि क्रिप्टो ट्रेडिंग एक्सचेंज के जरिए की जाती है। जैसे शेयर बाजार में कारोबार करने के लिये स्टॉक एक्सचेंज जरूरी है, ठीक उसी तरह क्रिप्टोकरंसी के लेन-देन के लिए भी एक्सचेंज की जरूरत होती है। इसमें भारतीय निवेशकों के बीच वजीरएक्स खासा पसंदीदा है। इसके ट्रेडिंग वॉल्यूम में साल भर में हुए इस इजाफे से भी इसकी लोकप्रियता का अंदाजा आसानी से लगाया जा सकता है। एक पूर्व रिपोर्ट की मानें तो भारत में 1.5 करोड़ निवेशकों का देश में मौजूद क्रिप्टो एक्सचेंजों में रजिस्ट्रेशन है। 

क्रिप्टो करेंसी एक प्रकार की डिजिटल कैश प्रणाली है, जो एक निजी कंप्यूटर चेन से जुड़ी हुई है और कंप्यूटर एल्गोरिदम पर बनी है। इस पर किसी भी देश या सरकार का कोई नियंत्रण नहीं है। इसकी लोकप्रियता में इस कदर इजाफा हो रहा है कि कई देश इसे लीगल कर चुके हैं। क्रिप्टो करेंसी खरीदने के दो जरिए हैं, लेकिन आज सबसे आसान और लोकप्रिय तरीका इन्हें क्रिप्टो एक्सचेंज के जरिए खरीदना है। दुनिया भर में सैकड़ों क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंज काम कर रहे हैं। भारत की बात करें तो यहां पर काम कर रहे वजीरएक्स, जेबपे, क्वाइनस्विच कुबेर, क्वाइन डीसीएक्स गो समेत कई एक्सचेंज संचालित है। जहां से बिटक्वाइन, इथेरियम, टेथर और डॉजक्वाइन समेत दुनिया भर की डिजिटल मुद्राएं खरीदी जा सकती हैं। 

देश में बिटक्वाइन अन्य क्रिप्टो करेंसी को खरीदना और बेचना काफी आसान है। सबसे खास बात यह है कि खरीदारी के ये सभी क्रिप्टो एक्सचेंज चौबीसों घंटे खुले रहते हैं। इनके जरिए क्रिप्टो करेंसी को खरीदने और बेचने की प्रक्रिया भी काफी आसान है। रुपये में क्रिप्टो ट्रेडिंग और निवेश करने के लिए आपको किसी एक एक्सचेंज पर पंजीकरण करना होता है। इसके लिए एक्सचेंज की साइट पर साइनअप करने के बाद अपनी केवायसी प्रक्रिया को पूरा कर  वॉलेट में पैसे ट्रांसफर किए जाते हैं और फिर इन डिजिटल मुद्राओं की खरीदारी की जा सकती है। 

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *