Cyclone ‘Jawad’ : भारी तबाही मचा सकता है चक्रवाती ‘जवाद’, एनडीआरएफ की 64 टीमें तैनात- 150 ट्रेनें रद्द

नई दिल्ली। बंगाल की खाड़ी बने निम्न दबाव वाला क्षेत्र शुक्रवार दोपहर को चक्रवाती तूफान ‘जवाद’ में तब्दील हो गया और इसके रविवार दोपहर को ओडिशा के पुरी तट से टकराने के आसार हैं। एनडीआरएफ ने बचाव व राहत कार्य के लिए 64 टीमों को इस चक्रवात से निपटने के लिए तैयार रखा है। इस चक्रवात को जवाद नाम सऊदी अरब ने दिया है।

साइक्लोन जवाद के आज शनिवार को उत्तरी आंध्र प्रदेश में पहुंचने की संभावना के बीच राज्य सरकार ने तीन जिलों से 54,008 से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया है। जबकि ओडिशा में साइक्लोन को देखते हुए 19 जिलों में स्कूल और जन शिक्षा विभाग से संबद्ध सभी सरकारी, सहायता प्राप्त तथा निजी स्कूल आज बंद रहेंगे।

मौसम विभाग के महानिदेशक मृत्युंजय मोहापात्रा के मुताबिक ‘जवाद’ उत्तरी आंध्र प्रदेश पर बंगाल की खाड़ी के पश्चिम मध्य तट की ओर बढ़ रहा है। शनिवार सुबह तक यह आंध्र प्रदेश और ओडिशा के निकट पहुंचेगा और इसके बाद उत्तर-उत्तरपूर्व की ओर मुड़ता हुआ 5 दिसंबर को पुरी तट से टकराएगा।

इसके कारण आंध्र प्रदेश के उत्तरी तट और ओडिशा के दक्षिणी तट पर शुक्रवार शाम से भारी बारिश शुरू होगी, जो शनिवार को और बढ़ सकती है। इस दौरान 65 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से हवा चलेंगी जो शनिवार शाम तक 100 किलोमीटर प्रति घंटा तक पहुंच जाएंगी। खतरे को देखते हुए आंध्र प्रदेश, पश्चिम बंगाल और ओडिशा समेत पूर्वी राज्यों में राष्ट्रीय आपदा राहत बल (एनडीआरएफ) की 64 टीमों को तैनात किया गया है। आंध्र प्रदेश सरकार ने तटीय क्षेत्रों में राज्य आपदा राहत बल की टीमों को भी तैनात किया है।

एनडीआरएफ महानिदेशक अतुल करवल ने कहा, हम चक्रवात की चाल पर नजर बनाए हुए हैं। 46 टीमों को अधिक खतरे वाले प्रदेशों में मोर्चे पर तैनात कर दिया गया है। इनमें 19 पश्चिम बंगाल, 17 ओडिशा और 19 टीमें आंध्र प्रदेश में हैं, वहीं सात तमिलनाडु और दो टीमों को अंडमान निकोबार में तैनात की गई हैं। इसके अलावा 18 टीमों को स्टैंडबाय पर रखा गया है।

मौसम विभाग ने आंध्र प्रदेश के श्रीकाकुलम, विजियानगरम और विशाखापत्तनम के लिए रेड अलर्ट जारी किया है। इसके अलावा ओडिशा के गजापट्टी, गंजम, पुरी और जगतसिंहपुर जिलों के लिए भी रेड अलर्ट जारी किया है। चक्रवात के कारण पश्चिम बंगाल में शनिवार-रविवार और असम मेघालय व त्रिपुरा में रविवार-सोमवार को कुछ इलाकों में भारी बारिश का पूर्वानुमान है। मौसम विभाग ने मध्य एवं उत्तरी बंगाल की खाड़ी में रविवार तक मछुआरों को न जाने की सलाह दी है।

बता दें कि चक्रवात जवाद के कारण रेल संचालन भी प्रभावित हो रहा है। रेलवे की ओर से जानकारी दी गई है कि जवाद चक्रवात के कारण करीब 150 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है। ओडिशा, पश्चिम बंगाल और आंध्र प्रदेश में इस चक्रवात का असर पड़ रहा है। यह आंध्र प्रदेश और ओडिशा के तट से आज टकराएगा।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *