HindiNationalNews

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम-रहीम समेत 5 आरोपी रणजीत सिंह हत्या के मामले में बरी

चंडीगढ़। पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट ने डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह और 4 अन्य आरोपियों को 2002 के रणजीत सिंह हत्या मामले में बरी कर दिया है। इस मामले में सीबीआई हाईकोर्ट ने उम्र कैद की सजा सुनाई थी।
गुरमीत राम रहीम के वकील जतिंदर खुराना ने बताया, ”… पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट ने निचली अदालत के आदेश को बदल दिया है और इसमें शामिल सभी पांच लोगों को बरी कर दिया गया है… हम इस फैसले का स्वागत करते हैं…”

राम रहीम समेत 5 आरोपियों को CBI कोर्ट ने उम्रकैद की सजा दी थी। राम रहीम इस वक्त रोहतक की सुनारिया जेल में बंद है। उसे 3 मामलों में सजा हुई थी। इनमें रणजीत हत्याकांड में कोर्ट ने बरी कर दिया है। अब वो पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या और साध्वियों के यौन शोषण का केस उम्रकैद और यौन शोषण के 2 केसों में 10-10 साल की सजा काट रहा है। बरी होने के बावजूद राम रहीम को अभी जेल में ही रहना होगा।

कुरूक्षेत्र के रहने वाले डेरे के मैनेजर रणजीत सिंह की 10 जुलाई 2002 को गोली मारकर हत्या की गई थी। पुलिस जांच में डेरे को क्लीन चिट दे दी गई। रणजीत का परिवार संतुष्ट नहीं था।

पुलिस जांच से असंतुष्ट रणजीत सिंह के बेटे जगसीर सिंह ने जनवरी 2003 में हाईकोर्ट में याचिका दायर कर सीबीआई से जांच कराने की मांग की। शुरुआत में इस मामले में राम रहीम का नाम नहीं था, लेकिन साल 2003 में जांच सीबीआई को सौंपी गई।

फिर 2006 में राम रहीम के ड्राइवर खट्टा सिंह के बयान पर डेरा प्रमुख को शामिल किया गया। 19 साल के बाद अक्टूबर 2021 में डेरा प्रमुख समेत 5 आरोपियों को दोषी करार दिया गया। जिसके बाद सीबीआई ने इन्हें उम्रकैद की सजा दे दी। सजा मिलने के तीन साल बाद राम रहीम हाईकोर्ट से बरी हो गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *