Digvijaya Singh : ईमानदार भाजपाई जुल्म करने वाले बेईमानों को सबक सिखाएं: दिग्विजय सिंह

अशोकनगर, 29 अक्टूबर। ज्योतिरादित्य सिंधिया की बेईमान और जुल्म करने वालों की फौज भाजपा में शामिल हो गई है, उसे ईमानदार भाजपा और संघ के लोग सबक सिखायें और लोकतंत्र को बचायें। सिंधिया को ईमानदार लोग पसंद नहीं है, उनके पास बेईमानों की फौज है, ऐसे बेईमानों को पुराने खांटी भाजपा और संघ के लोगों को सबक सिखाने का समय है। यह बात प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने बुधवार की रात यहां कांग्रेस प्रत्याशी के समर्थन में एक आमसभा को संबोधित करते हुए कही।

उन्होंने कहा कि भाजपा में ईमानदार चाल-चलन और चरित्र की बात करने वाले लोगों के सिर पर सिंधिया के बेईमान लोग पहुंचकर बैठ गए हैं। अब अपने आत्म-सम्मान की रक्षा के लिए इस चुनाव में उन्हें सबक सिखाने की आवश्यकता है। दिग्विजय सिंह ने कहा कि में भाजपा और संघ के लोगों से अपील करता हूं कि वे अपने आत्म-सम्मान के लिए इन्हें सबक सिखायें। उन्होंने जिले के दो विधानसभा क्षेत्र में हो रहे उपचुनाव में अशोकनगर और मुंगावली विधानसभा क्षेत्र के भाजपा प्रत्याशियों पर निशाना साधते हुए कहा कि एक फर्जी दलित बनकर चुनाव लड़ रहा है, जिसके द्वारा दलित-आदिवासियों की जमीन की खरीद फरोख्त कर जुल्म किए जा रहे हैंं।

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने जजपाल सिंह द्वारा वरिष्ठ पत्रकार देवेन्द्र ताम्रकार पर झूठा प्रकरण दर्ज कराकर जेल भिजवाने का मामला भी उठाते हुए कहा कि सिंधिया को ऐसे बेईमान और जुल्म करने वाले लोग ही पसंद हैं। इसी प्रकार मुंगावली विधानसभा से चुनाव लडऩे वाले वाले बृजेन्द्र सिंह यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि बिना विधायक के मंत्री बने बृजेन्द्र सिंह अपने क्षेत्र में 1800 रुपये रेत की ट्राली में दलाली लेते रहे तथा विरोध करने वालों को झूठे आबकारी के प्रकरण में फंसाया जाता रहा।

किस साबुन से हाथ धोये शिवराज ने:

दिग्विजय सिंह ने सिंधिया पर कटाक्ष करते हुए कहा कि पहले महाराज बोलते थे कि शिवराज सिंह के हाथ किसानों के खून से रंगे हुए हैं। उन्होंने सिंधिया से सवाल करते हुए कहा कि अब महाराज बतायें कि शिवराज सिंह ने कौन से साबुन से हाथ धो लिए, जो अब खून से रंगे नहीं हैं? उन्होंने सिंधिया पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस ने उन्हें पूरा सम्मान दिया, पर जिस पार्टी ने उन्हें हराया, अब उसी के चरण में जा कर बैठ गए। भाजपा, सिंधिया को सम्मान देने वाली नहीं है, सिंधिया स्वयं स्वीकारेंगे।

उपचुनावों 1977 जैसी स्थिति:

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा कि प्रदेश में होने जा रहे सभी 28 सीटों पर उपचुनावों में 1977 जैसी स्थिति है। 1977 में जिस प्रकार जनतापार्टी के पक्ष में जबरदस्त स्थिति थी और कांगे्रस प्रत्याशी को क्षेत्र में प्रचार के दौरान भगा दिया जाता था, वैसी ही स्थिति इन उपचुनावों में दिखाई दे रही है। क्योंकि इन सीटों पर सिंधिया के बेईमान समर्थक चुनाव लड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि सिंधिया के कांग्रेस छोडऩे से कांग्रेस मजबूती से उभरी है और इस चुनाव में लोकतंत्र की रक्षा के लिए जनता बेईमानों को सबक सिखाने तैयार बैठी है।

खुलने लगे थे 15 साल के पन्ने:

दिग्विजय सिंह ने कमलनाथ सरकार को गिराने का कारण बताते हुए कहा कि कमलनाथ सरकार में भाजपा सरकार के 15 साल के भ्रष्टाचार के पन्ने खुलने लगे थे, इस कारण से खरीद-फरोख्त कर कमलनाथ की सरकार गिराई गई थी।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *