द्रौपदी मुर्मू का राष्ट्रपति चुना जाना मील का पत्थर साबित होगा : रविन्द्र नाथ महतो

-विधानसभा अध्यक्ष ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को दी शुभकामनाएं

रांची, 29 जुलाई । झारखंड विधानसभा के मानसून सत्र के पहले दिन शुक्रवार को सदन की कार्यवाही पूर्वाह्न 11.05 बजे शुरू हुई। विधानसभा अध्यक्ष रविन्द्र नाथ महतो ने प्रारंभिक वक्तव्य में कहा कि देश के सर्वोच्च पद पर बैठने वाली पहली आदिवासी महिला द्रौपदी मुर्मू को झारखंड विधानसभा की शुभकामनाएं।

स्पीकर ने कहा कि जनजाति महिला के राष्ट्रपति पद पर बैठने के बाद उम्मीद है कि देश में महिला सशक्तीकरण, दलित, आदिवासी लोगों के अधिकारों को पूरा करने में बल मिलेगा। यह देश के लिए गौरव की बात है। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद दूसरी बार देश को महिला राष्ट्रपति मिला है। जनजातीय समाज के उत्थान के लिए उनका राष्ट्रपति चुना जाना मील का पत्थर साबित होगा। साथ ही स्पीकर ने कांग्रेस के नवनिर्वाचित मांडर विधायक शिल्पी नेहा तिर्की को भी शुभकामनाएं दी।

स्पीकर ने पांच सभापतियों के नाम की घोषणा की

स्पीकर ने कहा कि विधानसभा की समितियां मिनी विधानसभा की तरह काम करती हैं। चालू वर्ष के लिए 23 विधानसभा समितियों का गठन किया गया है। उन्होंने कहा कि मुझे उम्मीद है कि यह समितियां जनहित से जुड़े मुद्दों पर काम करेगी। जब सदन आहूत नहीं होता है तब यह समितियां ही सरकार के विभिन्न योजनाओं का आकलन करती हैं। मानसून सत्र के पहले दिन प्रक्रिया एवं कार्य संचालन नियमावली के तहत सभापति का चुनाव किया गया। स्पीकर ने इस सत्र के लिए पांच सभापतियों के नाम की घोषणा की, जिसमें स्टीफन मरांडी, रामचंद्र चंद्रवंशी, सीता सोरेन, बिरंची नारायण और नमन विक्सल कोंगाड़ी शामिल हैं।

कार्यमंत्रणा समिति में सात विधायक

कार्यमंत्रणा समिति में सात विधायकों को रखा गया, जिसमें स्पीकर रविन्द्र नाथ महतो, मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, मंत्री आलमगीर आलम, मंत्री सत्यानंद भोक्ता, विधायक सीपी सिंह, सुदेश महतो, सरयू राय शामिल हैं।

12 विशेष आमंत्रित सदस्य

चंपई सोरेन, रामेश्वर उरांव, नलिन सोरेन, स्टीफन मरांडी, लोबिन हेंब्रम, नीलकंठ सिंह मुंडा, प्रदीप यादव, सरफराज अहमद, रामचंद्र चंद्रवंशी, अपर्णा सेनगुप्ता, बिनोद सिंह, पूर्णिमा नीरज सिंह को आमंत्रित सदस्य बनाया गया।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published.