ईडी ने देश में आतंक मचाया, सुप्रीम कोर्ट जल्द दे दखल : गहलोत

जयपुर, 27 जुलाई । कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से प्रवर्तन निदेशालय की लगातार तीसरे दिन भी पूछताछ को लेकर प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने केंद्र सरकार और ईडी पर बड़ा हमला बोला है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि ईडी ने देश में आतंक मचा रखा है, हर तरफ आतंक का माहौल है। ईडी का जो तमाशा हो रहा है ऐसा सुना नहीं होगा। सोनिया गांधी को ईडी ने तीसरी बार बुलाया है, आगे पता नहीं कब तक बुलाएंगे। देश में आज ईडी का आंतक है। देश में ईडी ने जो आतंक मचा रखा है उस पर सुप्रीम कोर्ट को आगे आकर जल्द फैसला करना चाहिए। सुप्रीम कोर्ट में ईडी को लेकर सैकड़ों एसएलपी लगी हुई हैं। अभी जो आतंक की स्थिति बना रखी है, वह देश हित में नहीं है। ईडी के मुकदमों में आधा फीसदी में भी सजा नहीं हो पाई, तो आप समझ सकते हैं इनके मुकदमों की हालत क्या है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत बुधवार को दिल्ली में एआईसीसी मुख्यालय में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि ईडी के आतंक से सभी लोग परेशान हैं। देश किस दिशा में जा रहा है कुछ नहीं पता। पहले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी से पांच दिन तक 50 घंटे पूछताछ की गई, उसके बाद अब सोनिया गांधी से भी पूछताछ का तीसरा दिन है। ऐसा कभी सुनने को और देखने को नहीं मिला है। गहलोत ने आरोप लगाया कि सरकारों को राज्यों में चुनी हुई सरकारों को गिराने में ईडी का इस्तेमाल होता है। महाराष्ट्र में ईडी के साथ मिलकर उद्धव सरकार गिरा दी गई, अब नई सरकार बनी है, 28 दिन हो गए लेकिन अभी तक मंत्रिमंडल का गठन तक नहीं हो पाया है। यह साफ इंगित करता है कि लोकतंत्र किस दिशा में जा रहा है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि महंगाई और बेरोजगारी इस देश के बड़े मुद्दे हैं, लेकिन इन मुद्दों पर संसद में चर्चा नहीं होती है और जो सांसद इन पर चर्चा करते हैं उन्हें बाहर निकाल दिया जाता है। कल भी 19 सांसदों को सस्पेंड कर दिया गया। पहले ऐसा कभी नहीं हुआ कि चर्चा की मांग करने वाले सांसदों को सस्पेंड कर दिया गया हो। मुख्यमंत्री ने कहा कि साल 2014 में जो लोग बड़े-बड़े वादे करके सत्ता में आए थे आज वो सब वादे कहां है किसी को नहीं पता। महंगाई कम करने, बेरोजगारी खत्म करने और काला धन वापस लाने के लिए जो वादे किए गए थे उसका कहीं अता पता नहीं है। काला धन लाने के लिए सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जस्टिस की अध्यक्षता में गठित कमेटी का भी कुछ नहीं पता।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ईडी की कार्रवाई को लेकर कहा कि क्या इन दिनों ईडी को सीबीआई से भी ज्यादा पावर दे रखी है, इनका जहां मन करता है वहां पर छापे मारने और कार्रवाई करने पहुंच जाते हैं, लोगों को गिरफ्तार करने पहुंच जाते हैं। यह रवैया ठीक नहीं है, केंद्र सरकार को भी इस पर ध्यान देना चाहिए। इन्हें यह घमंड है कि इन बातों को देश सपोर्ट कर रहा है। चुनाव में किए वादे इन्होंने भुला दिए। 2014 में लोकसभा चुनाव में लोकपाल बिल, ब्लैक मनी लाने के वादे किए थे। काले धन पर एसआईटी बनाई थी, वह तो गायब ही हो गई।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published.