ED : ईडी ने पंकज मिश्रा मामले में रिम्स प्रशासन से मांगे पेइंग वार्ड के सीसीटीवी फुटेज

रांची, 21 अक्टूबर । प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कुछ संदिग्ध कॉल को ट्रैक किया है। पंकज मिश्रा की ओर से अजय बराज से संबंधित कार्य सहित अन्य टेंडरों को मैनेज करने के लिए किये गए कॉल को ट्रैक किया है। इस बात की जांच चल रही है कि क्या पंकज मिश्रा ने सिचाई विभाग के किसी अफसर को बुलाकर किसी कंपनी को काम आवंटित करने के लिए दबाव बनाया था। ये सभी कॉल्स तब किये गए जब वह मनी लॉन्ड्रिंग मामले में न्यायिक हिरासत में थे।

बताया गया कि पंकज मिश्रा के नाम से एक फोन कॉल किया गया था और उन्होंने राजी कर लिया कि काम उनकी पसंद की कंपनी को आवंटित किया जाना चाहिए। विशेष रूप से राज्य सरकार के एक प्रभावशाली अधिकारी के बारे में कहा जाता है कि उसने उसी कंपनी की पैरवी की थी। पंकज मिश्रा मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के विधायक प्रतिनिधि हैं। ईडी ने उन्हें 1000 करोड़ रुपये के अवैध पत्थर खनन घोटाले में गिरफ्तार किया था।

इस बीच ईडी ने शुक्रवार को रिम्स प्रशासन से पेइंग वार्ड क्षेत्र के सीसीटीवी फुटेज उपलब्ध कराने को कहा है, जहां पंकज मिश्रा इलाजरत हैं। ईडी उन लोगों का पता लगाना चाहता है जो पेइंग वार्ड में अनाधिकृत तरीके से पंकज मिश्रा से मिले थे। ईडी ने यह कदम पंकज मिश्रा के दो ड्राइवरों चंदन यादव और सूरज पंडित को अवैध रूप से पंकज मिश्रा को कॉल करने के लिए अपना मोबाइल फोन उपलब्ध कराने के आरोप में हिरासत में लेने के बाद उठाया। आरोप है कि पंकज मिश्रा एक डीसी, एक एसपी और जिला खनन अधिकारी सहित कई लोगों से फोन पर लगातार संपर्क में रहते थे और निर्देश देते थे।

हिन्दुस्थान समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *