HindiNationalNewsPolitics

चुनाव आयोग ने भाजपा सहयोगियों के फायदे के लिए अनंतनाग-राजौरी चुनाव टाला: महबूबा

श्रीनगर, 01 मई : पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की अध्यक्ष एवं जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने बुधवार को आरोप लगाया कि चुनाव आयोग ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सहयोगियों के पक्ष में मतदाताओं को लुभाने के लिए जानबूझकर अनंतनाग-राजौरी लोकसभा सीट पर चुनाव टाला है।

सुश्री मुफ्ती ने यह भी आरोप लगाया कि यह कदम लोगों को जम्मू-कश्मीर की पहचान और संसाधनों पर चल रहे हमले के खिलाफ अपने मताधिकार का प्रयोग नहीं करने से डराने के लिए था। चुनाव आयोग ने मंगलवार को प्रतिकूल मौसम की स्थिति के कारण साजो-सामान संबंधी मुद्दों का हवाला देते हुए अनंतनाग-राजौरी संसदीय सीट पर मतदान की तारीख सात मई से बढ़ाकर 25 मई कर दी थी।

चुनाव आयोग की फैसले पर केन्द्रशासि प्रदेश की दो प्रमुख पार्टियों नेशनल कांफ्रेंस और पीडीपी ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की।

पीडीपी अध्यक्ष ने राजौरी की मनियाल गली में चुनावी रैलियों को संबोधित करते हुए जम्मू-कश्मीर की विशिष्ट पहचान की सुरक्षा के लिए मौजूदा लोकसभा चुनाव के महत्व पर जोर दिया। उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि चुनाव केंद्र सरकार को एक स्पष्ट संदेश भेजने का अवसर प्रदान करेंगे कि पांच अगस्त, 2019 को और उसके बाद लिए गए निर्णयों को रद्द किया जाना चाहिए।

सुश्री मुफ्ती ने कहा कि ऐसा लगता है कि चुनावी प्रक्रिया में हेरफेर करने के लिए अधिकारियों और चुनाव आयोग के बीच मिलीभगत है। उन्होंने कहा, “सरकार ने मेरे लिए यह रास्ता और खतरनाक बनाने के वास्ते जानबूझकर यहां चुनाव की तारीख बढ़ा दी है और जिन अधिकारियों ने चुनाव में देरी की है, उन्होंने इसके लिए कोई कारण नहीं बताया है। इससे सवाल उठता है कि क्या ये अधिकारी भी आयोग के साथ मिलीभगत कर रहे हैं?”

पूर्व मुख्यमंत्री ने सुदूर क्षेत्र और चुनाव प्रचार की चुनौतियों के बावजूद इस क्षेत्र से चुनाव लड़ने का दृढ़ संकल्प व्यक्त किया। उन्होंने कहा, “मैं चाहती हूं कि आप मेरे संकल्प को मजबूत करें और मेरी जीत सुनिश्चित करें ताकि मैं उसी साहस और दृढ़ संकल्प के साथ संसद में आपका प्रतिनिधित्व कर सकूं।”

उन्होंने उस वायरल वीडियो की निंदा की जिसमें एक भाजपा नेता मतदाताओं को पार्टी के उम्मीदवारों का समर्थन नहीं करने पर 1947 की याद दिलाने वाले परिणाम भुगतने की धमकी दे रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि मतदान में देरी का उद्देश्य मतदाताओं के बीच डर पैदा करना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *