संविधान प्रदत्त अधिकारों का आनंद लें, परंतु कर्तव्यों को भी पूरा करें : मुख्यमंत्री

भोपाल, 26 नवंबर । देशभर में शनिवार को संविधान दिवस मनाया जा रहा है। देश में हर साल 26 नवंबर को संविधान दिवस या राष्ट्रीय कानून दिवस मनाया जाता है। आज ही के दिन आजाद भारत को एक संविधान मिला था। 26 नवंबर 1949 को, संविधान सभा ने भारत के संविधान को अपनाया जो 26 जनवरी 1950 को लागू हुआ। इस वजह से 26 नवंबर को संविधान दिवस के रूप में मनाया जाता है।

संविधान दिवस पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने देश और प्रदेश वासियों को शुभकामनाएं देते हुए ट्वीट किया है। अपने ट्वीट में उन्होंने कहा कि ‘हर किसी के हितों की रक्षा हो, ऐसा विधान है। सबको जोडक़र रखे, ऐसा भारत का संविधान है। भारत के संविधान ने नागरिकों को अपार संवैधानिक शक्ति प्रदान की है और साथ में कुछ नागरिक कर्तव्य भी। अधिकार का आनंद लें, परंतु कर्तव्यों को भी पूरा करें, यही सच्ची भारतीयता है।

बता दें कि भारतीय संविधान कई मायनों में विश्व के अन्य देशों के संविधान से अलग है लेकिन विश्व का सबसे बड़ा लिखित संविधान होने इसे अन्य देशों से बेहद अलग बनाता है। संवैधानिक मूल्यों को बढ़ावा देने के लिए सामाजिक न्याय मंत्रालय ने 19 नवंबर 2015 को 26 नवंबर के दिन को संविधान दिवस के रूप में मनाने का फैसला किया था। संवैधानिक मूल्यों की जानकारी देश के हर नागरिक को हो, इसलिए इस दिन को मनाया जाता है। इस दिन स्कूल और कॉलेजों में भारत के संविधान की प्रस्तावना को पढ़ाया जाता है. इसके साथ ही भारत के संविधान की विशेषता और महत्व पर भी चर्चा की जाती है।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *