पारदर्शिता के साथ लागू की गई आबकारी नीति : मनीष सिसोदिया

Insight Online News

-अरविंद केजरीवाल को रोकने के लिए मेरे घर पर छापेमारी की गई

  • दो-चार दिन में मुझे गिरफ्तार कर लेंगे

नई दिल्ली, 20 अगस्त : दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शनिवार को आबकारी नीति में भ्रष्टाचार के आरोपों को लेकर केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) की छापेमारी को केंद्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग करार देते हुए केंद्र सरकार पर तीखा हमला किया।

उपमुख्यमंत्री सिसोदिया ने अपने सरकारी आवास पर संवाददाता सम्मेलन में कहा कि नई आबकारी नीति देश की सबसे अच्छी आबकारी नीति है। उन्होंने कहा कि इसे पूरी पारदर्शिता के साथ लागू किया गया था। इसमें कोई घोटाला नहीं हुआ। उन्होंने उपराज्यपाल (एलजी) पर नीति में बदलाव करने का आरोप लगाया।

सीबीआई की छापेमारी को केंद्र सरकार की राजनीतिक बदले की कार्रवाई बताते हुए सिसोदिया ने कहा कि इन लोगों को घोटाले की चिंता नहीं है। इनकी चिंता राष्ट्रीय विकल्प के रूप में उभर रहे अरविंद केजरीवाल हैं, जिनके शिक्षा और स्वास्थ्य के काम की दुनिया में चर्चा हो रही है। उन्होंने कहा कि केजरीवाल को रोकने के लिए मेरे घर पर छापेमारी की गई। सिसोदिया ने कहा कि 2024 का लोकसभा चुनाव “आप” बनाम भाजपा, मोदी बनाम केजरीवाल के बीच होगा।

इसी बीच उन्होंने दावा किया कि अगले दो-चार दिन में उन्हें सीबीआई द्वारा गिरफ्तार कर लिया जाएगा। सिसोदिया ने कहा कि सत्येंद्र जैन पहले से जेल में, मैं भी 2-3 दिन में गिरफ्तार हो जाऊंगा। उन्होंने इसे शिक्षा और स्वास्थ्य क्षेत्र में काम रोकने की साजिश बताया।

छापेमारी के दौरान सीबीआई टीम के व्यवहार की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि मेरे परिवार को कोई असुविधा नहीं पहुंचाने के लिए उन्हें धन्यवाद देना चाहता हूं।

आगे सिसोदिया ने कहा कि अमेरिका के सबसे बड़े अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स ने कल पहले पेज पर दिल्ली के शिक्षा मॉडल को कवर किया था। यह भारत के लिए गर्व की बात है। करीब 1.5 साल पहले उनकी तरफ से एक और स्टोरी छापी गई थी, जिसमें गंगा के पास हजारों शव दिखाए गए थे।

सिसोदिया ने कहा कि शराब या एक्साइज केंद्र की परेशानी नहीं है। इनकी परेशानी अरविंद केजरीवाल की लोकप्रियता है। मेरे खिलाफ जो कार्रवाई हो रही है वो केजरीवाल को रोकने की साजिश का हिस्सा है। अगर शराब मुद्दा है तो सीबीआई गुजरात क्यों नहीं जाती है। सिसोदिया ने बुंदेलखंड में सड़क धसने की बात कहते हुए कहा कि सबसे बड़ा घोटला वह है।

अंत में उन्होंने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि कल सभी प्रेस वार्ता कर अलग हजारों करोड़ रुपये का घोटाला करने का आरोप लगा रहे थे। वहीं कल सीबीआई ने पूछने पर बताया कि उन्हें सूत्रों से जानकारी मिली है कि एक करोड़ का घोटाला हुआ है। सिसोदिया ने कहा कि हम भगत सिंह को मानने वाले है, हम किसी से डरने वाले नहीं है।

उल्लेखनीय है कि दिल्ली की नई आबकारी नीति में कथित भ्रष्टाचार की जांच को लेकर सीबीआई ने शुक्रवार को करीब 14 घंटे उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के आवास एवं ऑफिस पर छानबीन की। सीबीआई ने उनका लैपटॉप और मोबाइल जब्त कर लिया है।

यह है पूरा मामला

केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने दिल्ली में नई आबकारी नीति को लेकर दर्ज अपनी एफआईआर में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को मुख्य आरोपित बनाया है। अपनी एफआईआर में सीबीआई ने आरोप लगाया है कि नई शराब नीति बनाने और उसको लागू कराने में शराब कंपनियों और बिचौलियों को शामिल किया गया है। साथ ही मनीष सिसोदिया के करीबी सहयोगी के द्वारा शराब लाइसेंस धारियों से कमीशन प्राप्त किया गया। सीबीआई ने करीब 16 लोगों को जांच के दायरे में रखा है।

सीबीआई ने शुक्रवार को उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया सहित 7 राज्यों के 31 स्थानों पर छापेमारी की गई। छापेमारी दिल्ली, गुरुग्राम, चंडीगढ़, मुंबई, हैदराबाद, लखनऊ, बेंगलुरु और अन्य स्थानों पर की गई। इसमें आपत्तिजनक दस्तावेज, लेख और डिजिटल रिकॉर्ड बरामद किए गए हैं।

हिन्दुस्थान समाचार/अश्वनी

Leave a Reply

Your email address will not be published.