वर्षा प्रभावित जिलों में किसानों की हालत बदतर, मदद करे सरकार: अजीत पवार

मुंबई, 29 जुलाई । महाराष्ट्र में विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष अजीत पवार ने कहा कि वर्षा प्रभावित जिलों में किसानों सहित आम लोगों की हालत बदतर है। इसलिए राज्य सरकार को प्रभावित लोगों की तत्काल मदद करनी चाहिए। अजीत पवार ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि मंत्रालय में बैठकर विपक्ष से प्रतिप्रश्न पूछने की बजाय सरकार को किसानों की आर्थिक मदद देने पर अपनी शक्ति खर्च करना चाहिए।

अजीत पवार ने वर्धा जिले में शुक्रवार सुबह वर्षा प्रभावित इलाकों का दौरा किया और प्रभावित लोगों से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि भारी बारिश के कारण इस क्षेत्र में गंभीर स्थिति पैदा हो गई है। अगर हम इस बारे में पूछें तो जवाब है कि आप कैबिनेट में कितने लोग थे? लेकिन यह एकमात्र जवाब नहीं है। तुरंत प्रभावित क्षेत्रों में पंचनामा कैसे शुरू होगा? उनकी कैसे मदद की जाएगी? दोहरी बुवाई के लिए किसान बीज कैसे प्राप्त करें, इस पर जवाब चाहिए। लेकिन कोई इस बारे में कोई बात नहीं कर रहा है।

उल्लेखनीय है कि अजीत पवार ने गुरुवार को गढ़चिरौली तथा चंद्रपुर जिले का दौरा किया था, इसके बाद किसानों को तत्काल 75 हजार रुपये की आर्थिक मदद की मांग की थी। इसके बाद उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा था कि उनकी सरकार केंद्र से मदद की मांग नहीं करेगी, किसानों को जल्द मदद घोषित करेगी। साथ ही देवेंद्र फडणवीस ने कहा था कि पिछली सरकार में पांच मंत्री 32 दिनों थे, इसके बाद मंत्री समूह का विस्तार किया गया था।

इसे लेकर अजीत पवार ने कहा कि पिछली सरकार की तथा इस समय की सरकार की परिस्थितियां अलग-अलग हैं। पिछली सरकार के समय पांच नहीं सात मंत्रियों ने पहली खेप में मंत्री पद की शपथ ली थी न कि पांच। अजीत पवार ने कहा कि यह समय इस तरह के राजनीतिक सवाल उठाने का नहीं है। भारी बारिश से किसान सहित लोग परेशान हैं और उनकी मदद की नितांत आवश्यकता है। इसलिए सरकार बहाने बाजी की बजाय लोगों की मदद करे।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published.