बाढ़ पीड़ित संयम रखें, फंसे लोगों की एयरलिफ्टिंग की प्रशासन कर रहा व्यवस्था : शिवराज

भोपाल, 23 अगस्त ; मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राज्य में बाढ़ प्रभावित लोगों से संयम रखने की अपील करते हुए कहा कि सभी फंसे हुए लोगों को निकालने के लिए प्रशासन लगातार व्यवस्थाओं में जुटा है।

श्री चौहान ने अपना बयान जारी करते हुए कहा कि पिछले 48 घंटों में प्रदेश में भीषण वर्षा हुई है। भोपाल, विदिशा, राजगढ़, गुना, रायसेन, सीहोर, नर्मदापुरम, जबलपुर को अगर देखें तो मध्य क्षेत्र और पूर्वी मध्य प्रदेश में बारिश ने पिछले सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए, जिसके कारण बांध लबालब भरे हैं। कई बांधों के गेट खोलने पड़े हैं, कई जगह नदियां खतरे के निशान के ऊपर बह रही हैं। विदिशा जिले में बेतवा और सहायक नदियां उफान पर हैं। कई गांव घिरे हुए हैं।

उन्होंने कहा कि गुना में पार्वती नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है, कुछ गांव में जलभराव की स्थिति है। अब नर्मदा में जलस्तर कई जगह कम हो रहा है, लेकिन नेमावर जैसे स्थान पर बढ़ भी रहा है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि वे स्वयं कल से लगातार स्थिति पर नजर रखे हैं। रात को भी सिचुएशन रूम से और सवेरे भी सारे जिलों से जुड़कर हर आवश्यक कदम उठाने का प्रयास किया है।

उन्होंने कहा कि वे भोपाल की सड़कों पर रात में भी घूमे थे। सभी जिलों में वर्षा हुई है। प्रशासन लगातार सक्रिय है। पिछले 24 घंटों में 405 व्यक्तियों को रेस्क्यू कर बाहर निकाला है, लगभग 23 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया है। अकेले विदिशा जिले में ही 18 शिविरों में 1200 लोग रुके हुए हैं और लगातार भोजन और आवश्यक सारी व्यवस्थाएं करने का प्रयास किया जा रहा है। विदिशा में लगातार कई गांव में रेस्क्यू ऑपरेशन चल रहा है। विदिशा और गुना जिले के 25 गांव बाढ़ में गिरे हुए हैं। विदिशा और गुना जिले के 10 गांव में जो लोग फंसे हुए हैं, उनको दो हेलीकॉप्टर के माध्यम से एयरलिफ्ट किया जाएगा। राजगढ़ जिले में 8 राहत शिविरों में 500 लोगों को ठहराया गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कालीसिंध, पार्वती और चंबल नदी के जलस्तर पर भी निरंतर नजर रखी जा रही है। एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमें लगातार रेस्क्यू ऑपरेशन में लगी हुई है। नर्मदापुरम में एनडीआरएफ की दो टीम, विदिशा में दो, जबलपुर में एक, सीहोर में एक, भोपाल में और गुना में भी टीम काम कर रही हैं। ऐसे ही एसडीआरएफ की विदिशा में तीन, राजगढ़ में 2 , गुना में तीन टीम लगी हुई हैं। ये टीमें लगातार लोगों को निकाल रही हैं। नावों के माध्यम से लोग रेस्क्यू किए जा रहे हैं। एयरलिफ्ट की व्यवस्था के लिए एक हेलीकॉप्टर रवाना किया है, दूसरा आ रहा है और तीसरा भी बुलवा लिया है।

उन्होंने कहा कि आगरमालवा, रतलाम, शाजापुर जिलों में भी लगातार नजर रखी जा रही है। नीचे स्थान पर जो लोग हैं उन्हें ऊपर बसाने का लगातार हम प्रयास कर रहे हैं।
श्री चौहान ने कहा कि जो बाढ़ से प्रभावित हैं, संकट की घड़ी में सरकार उनके साथ है। राहत और बचाव के कामों में भी कोई कसर नहीं छोड़ेंगे और उसके बाद जो नुकसान हुआ है उसकी भरपाई करने का भी भरपूर प्रयास करेंगे। सभी लोग धैर्य और संयम से काम लें। उन्होंने कहा कि वे स्वयं बाढ़ पीड़ित क्षेत्रों में निकल रहे हैं।

वार्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published.