Four-day festival concludes : छठव्रतियों ने उदीयमान सूर्य को अर्घ्य अर्पित किया

Insight Online News

रांची, 11 नवंबर : झारखंड में छठ अनुष्ठान के चौथे और आखिरी दिन गुरुवार को व्रतियों ने उदीयमान सूर्य को अर्घ्य अर्पित किया और इसके साथ ही चार दिवसीय छठ महापर्व का समापन हो गया।

अर्घ्य अर्पण के लिये राजधानी रांची के विभिन्न घाटों में व्रती और श्रद्धालुओं की भीड़ देखी गई। प्रशासन की ओर से सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे। नदी-तालाबों में एनडीआरएफ की टीम तैनात थी। महापर्व छठ पूजा के चौथे दिन स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता अपनी धर्मपत्नी संग कदमा नील सरोवर छठ घाट पर उदयमान भगवान भास्कर को अर्घ्य देकर कर पूजा-अर्चना कर ईश्वर से राज्य और देशवासियों की सुख, शांति एवं समृद्धि, अच्छे स्वास्थ्य और सुखी जीवन की कामना की। दूसरी ओर झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवर दास ने सिदगोड़ा स्थित सूर्य धाम मंदिर के सरोवर में भगवान सूर्य को अर्घ्य समर्पित की और झारखंड एवं देश वासियों के लिए सुख समृद्धि स्वास्थ्य की कामना की।

राज्य के सभी जिलों में भी महापर्व छठ को लेकर आस्था और उत्साह का वातावरण रहा । गोड्डा जिले में छठ महापर्व पर शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में श्रद्धालुओं ने उदीयमान सूर्य को अर्घ्य दिया। गोड्डा नगर पंचायत की ओर से सुबह सड़कों पर जल छिड़काव किया गया था। ताकि श्रद्धालु घाटों तक पवित्रता के साथ पहुंच सके। सरायकेला खरसावां जिले में सरायकेला एवं आदित्यपुर नगर निगम क्षेत्र में खरकाई नदी विभिन्न छठ घाट तथा चांडिल स्वर्णरेखा नदी छठ घाटों में श्रद्धालुओं द्वारा हजारों की संख्या में श्रद्धालु उपस्थित होकर उदयीमान सूरज को अर्घ्य दिया गया। इस दौरान जिला प्रशासन एवं रेड क्रॉस की टीम मुस्तैद रही। लोहरदगा जिला मे लोकआस्था का महापर्व छठ सम्पन्न हो गया।विभिन्न जलाशयों मे छठव्रतियों ने उदीयमान सूर्य को अर्ध्य दिया और मंगल की कामना की।

सुबह से ही छठ घाटों मे लोगों की भारी भीड़ उमडी थी। कंपकंपाती ठंड के बीच भीगे वस्त्रों में व्रती जलाशयों में हाथ जोड़े सूर्य देवता की प्रतीक्षा में थे । लोगों ने पूरी आस्था के साथ उगते सूर्य को अर्ध्य दिया। छठव्रतियों के लिए घाटों मे विशेष व्यवस्था की गई थी। कहीं चाय काफी का वितरण किया जा रहा था तो कहीं दूध की व्यवस्था की गई थी।

विनय, वार्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *