पाकिस्तानी अखबारों सेः इमरान को शहबाज गिल से मिलने से रोके जाने को प्रमुखता

Insight Online News

  • नवाज के अर्थव्यवस्था सुधार और शहबाज के बाढ़ राहत पैकेज वाली घोषणाओं को भी महत्व
  • भारत से बिलकिस बानो के दोषियों की रिहाई और सोशल मीडिया पर शाहरुख के विरोध को दी जगह

नई दिल्ली, 20 अगस्त : पाकिस्तान से शनिवार को प्रकाशित अधिकांश समाचारपत्रों ने पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान के जरिए पीटीआई नेता शाहबाज गिल से पुलिस हिरासत के दौरान अस्पताल में मुलाकात के लिए पहुंचने और पुलिस के जरिए उन्हें रोके जाने की खबरें प्रमुखता से प्रकाशित की हैं। इस मौके पर इमरान खान ने कहा है कि शहबाज गिल पर पुलिस हिरासत के दौरान हिंसा की गई है और उन्हें प्रताड़ित किया गया है। उन्होंने कहा है कि उनके पास गिल पर की गई हिंसा की वीडियो और तस्वीरें मौजूद हैं। पीटीआई ने गिल की गिरफ्तारी के खिलाफ आज रैली आयोजित करने का फैसला लिया है।

अखबारों ने पीएमएल-(एन) और पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ का एक बयान प्रमुखता से प्रकाशित किया जिसमें उन्होंने कहा है कि जनता को महंगाई से निजात दिलाने और अर्थव्यवस्था को सुधारने के लिए युद्धस्तर पर काम करने की जरूरत है। नवाज शरीफ ने लंदन में इसहाक डार से इस सिलसिले में लंबी बातचीत की है और उन्हें अर्थव्यवस्था में सुधार की जिम्मेदारी सौंपी है।

अखबारों ने प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ का एक बयान छापा है जिसमें उन्होंने कहा है कि बाढ़ पीड़ितों के लिए 37 अरब का सहायता पैकेज शुरू किया गया है। उनका कहना है कि देशभर के बाढ़ पीड़ित इलाकों के 15 लाख परिवारों में प्रति परिवार 25000 रुपये की नकद रकम उपलब्ध कराई जाएगी। अखबारों ने सेनाध्यक्ष जनरल कमर जावेद बाजवा के जरिए हावर्ड यूनिवर्सिटी के छात्रों से मुलाकात किए जाने की खबरें दी हैं। इस मौके पर सेना अध्यक्ष ने क्षेत्र की ताजा स्थिति पर चर्चा करते हुए शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए पाकिस्तान सेना की कोशिशों पर प्रकाश डाला है।

अखबारों ने सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस का एक रिमार्क छापा है जिसमें उन्होंने कहा है कि सांसद अपने मतलब और अपने फायदे के कानून बनाने में लगे हुए हैं। उनका कहना है कि कानून बनाने में अदालत हस्तक्षेप नहीं करेगी लेकिन मानवाधिकारों के हनन पर नोटिस लेंगे।

अखबारों ने महंगाई के 50 साल का रिकॉर्ड तोड़े जाने की खबरें दी हैं। सांख्यिकी विभाग के जरिए जारी की गई सप्ताहिक रिपोर्ट में महंगाई की दर में वृद्धि पर चिंता व्यक्त की गई है। अखबारों ने प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ के अगले हफ्ते कतर का दौरा किए जाने की खबरें दी हैं। अखबारों ने बताया है कि इस दौरान दोनों देशों के बीच दोतरफा व्यापार में वृद्धि सहित कई मुद्दों पर बातचीत की जाएगी।

अखबारों ने विदेश मंत्री बिलावल भुट्टो के जरिए यूरोपीय देशों के दौरे पर जाने की खबरें भी दी हैं। अखबारों ने बताया कि बिलावल भुट्टो यूरोप के दौरे के दौरान पाकिस्तान और यूरोपीय देशों के संबंधों के बारे में वहां के नेताओं से चर्चा करेंगे। अखबारों ने बैंकर जमील अहमद को स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान का नया गवर्नर नियुक्त किए जाने की खबरें दी है। उनकी नियुक्ति का नोटिफिकेशन जारी किया गया है।

अखबारों ने एफआईए के जरिए इमरान खान को दोबारा नोटिस भेजे जाने का फैसला लेने की खबरें भी दी हैं। अखबारों ने बताया है कि विदेशी फंडिंग मामले में जांच कर रही है। एजेंसी का कहना है कि सहयोग नहीं करने पर उन्हें गिरफ्तार भी किया जा सकता है। यह सभी खबरें रोजनामा पाकिस्तान, रोजनामा नवाएवक्त, रोजनामा खबरें, रोजनामा दुनिया, रोजनामा एक्सप्रेस, रोजनामा जंग के पहले पन्ने पर प्रकाशित की गई है।

रोजनामा खबरें ने एक खबर दी जिसमें बताया गया है कि बिलकिस बानो केस में मुजरिमों की रिहाई पर भारत में विरोध-प्रदर्शन शुरू हो गया है। अखबार ने बताया कि प्रदर्शनकारियों के जरिए मुजरिमों को दी गई माफी को इंसाफ का कत्ल बताया जा रहा है। उन्हें सख्त सजा दिए जाने की मांग की जा रही है। 6000 सामाजिक कार्यकर्ताओं और अन्य क्षेत्रों में कार्य करने वाले लोगों के जरिए सुप्रीम कोर्ट से मुजरिमों की रिहाई को रद्द किए जाने की अपील की गई है।

रोजनामा दुनिया ने एक खबर दी है जिसमें बताया गया है कि भारतीय क्रिकेटर हरभजन सिंह ने यह रहस्योद्घाटन किया है कि पाकिस्तानी ऑलराउंडर शाहिद अफरीदी जब भी भारत आते थे, तो उनके लिए पेशावरी जूती लेकर आते थे। हरभजन सिंह ने एक वीडियो बयान ने बताया है कि पाकिस्तान टीम में मेरे कई दोस्त हुआ करते थे। उन्होंने कहा कि मेरी सकलैन मुश्ताक के साथ भी अच्छी दोस्ती थी। मैं उनसे क्रिकेट पर बात करता था। रोजनामा एक्सप्रेस ने एक खबर दी है जिसमें बताया गया है कि बॉलीवुड के सुपरस्टार किंग खान के एक निजी टेलीविजन को दिए गए इंटरव्यू के बाद भारतीय प्रशंसकों के जरिए उन पर जोरदार तरीके से निशाना साधा जा रहा है। उनके बयान को लेकर सोशल मीडिया पर उन्हें चौतरफा निशाना बनाया जा रहा है और उनकी आने वाली फिल्म पठान के बहिष्कार की मांग की जा रही है।

हिन्दुस्थान समाचार/ एम ओवैस

Leave a Reply

Your email address will not be published.