तिरंगा यात्रा दंगा यात्रा न बने, सरकार सुनिश्चित करे : माले

  • पार्टी आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर 09 से 15 अगस्त तक देशव्यापी अभियान चलाएगी
  • सरकार को तिरंगे का निःशुल्क वितरण करना चाहिए

लखनऊ, 06 अगस्त । भाकपा (माले) की राज्य इकाई ने शनिवार को जारी अपने बयान में कहा है कि ‘अमृत काल’ में तिरंगा यात्राएं दंगा यात्राओं में न परिणत हो जाएं और आजादी के 75वें साल का जश्न शांतिपूर्वक मने, सरकार इसे सुनिश्चित करे।

राज्य सचिव सुधाकर यादव ने अपने बयान में कहा कि साल 2018 में योगी सरकार थी और कासगंज में गणतंत्र दिवस के मौके पर विहिप आदि संगठनों ने जान-बूझकर उन्हीं रिहाइशी इलाकों से तिरंगा यात्राएं निकाली थीं, जो प्रशासनिक तौर पर साम्प्रदायिक रुप से संवेदनशील थे। कासगंज दंगा भूला नहीं है। इस तरह की किसी घटना की पुनरावृत्ति न हो, सरकार को इसकी जवाबदेही लेनी चाहिए।

माले नेता ने आजादी की 75वीं वर्षगांठ मनाने के क्रम में ‘हर घर तिरंगा’ और ‘हर घर की छत पर तिरंगा’ फहराने के आधिकारिक आह्वान पर कहा कि सरकार को तिरंगे का निःशुल्क वितरण करना चाहिए। उन्होंने पंचायती राज संस्थाओं के माध्यम से ग्रामीण इलाकों में भी तिरंगे का निःशुल्क वितरण करने की मांग की।

कामरेड सुधाकर ने कहा कि देश की आजादी की 75वीं वर्षगांठ मनाने के लिए भाकपा (माले) 09 से 15 अगस्त तक एक सप्ताह का देशव्यापी अभियान चलाएगी। नौ अगस्त को भारत छोड़ो दिवस की 80वीं वर्षगांठ पर आजादी मार्च निकाले जाएंगे और देश व संविधान को बचाने समेत शहीदों के सपनों का भारत बनाने का संकल्प लिया जाएगा।

माले नेता ने कहा कि 15 अगस्त को व्यापक रुप से तिरंगा फहराया जाएगा, शहीदों व स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजलि दी जाएगी और देश के संविधान की प्रस्तावना “हम भारत के लोग……” का सामूहिक पाठ किया जाएगा।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *