Gujarat Accident: गुजरात में सड़क किनारे सो रहे मज़दूरों को बेक़ाबू वाहन ने कुचला, 15 मरे, मोदी ने जताया दुख

सूरत, 19 जनवरी। गुजरात के सूरत ज़िले में कल देर रात एक बेक़ाबू वाहन ने सड़क किनारे सो रहे 20 लोगों को कुचल दिया जिससे उनमें से 15 की मौत हो गयी।

पुलिस ने आज बताया कि यहां से क़रीब 50 किमी दूर किम-मांडवी रोड पर कोसंबा के पलोडगाम के नज़दीक यह दुर्घटना हुई।

मृतक मूल रूप से राजस्थान के बांसवाड़ा ज़िले के कुशलगढ़ निवासी मज़दूर बताए गए है। मृतकों में बच्चे और महिलायें भी शामिल हैं।

मध्य रात्रि के आसपास एक तेज़ रफ़्तार डम्पर, गन्ना लदे एक ट्रैक्टर-ट्राली से टकराने के बाद असंतुलित होकर इन मज़दूरों के ऊपर चढ़ गया। उनमे से 12 की तो मौक़े पर ही मौत हो गयी। 8 घायलों में से तीन ने सूरत के स्मिमेर अस्पताल में दम तोड़ दिया।

पुलिस ने डम्पर को ज़ब्त कर इसके चालक और क्लीनर को पकड़ लिया है। बताया जाता है कि चालक ने शराब पी रखी थी। मामले की विस्तृत छानबीन की जा रही है।

इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस दुर्घटना पर दुःख व्यक्त करते हुए मृतकों के परिजनों को दो- दो लाख और घायलों के लिए 50 हज़ार रुपए की सहायता की घोषणा की है।

मोदी ने जताया दुख

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात के सूरत में एक ट्रक दुर्घटना में लोगों के मारे जाने पर दुख व्यक्त किया है।

श्री मोदी ने मंगलवार को ट्वीट कर कहा , “ सूरत में एक ट्रक दुर्घटना में लोगों की मौत त्रासदीपूर्ण है । मृतकों के परिजनों के साथ मेरी संवेदनाएं । इस हादसे में घायल हुए लोगों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं।”

प्रधानमंत्री ने मृतकों के परिजनों को दो- दो लाख और घायलों के लिए 50 हज़ार रुपए की सहायता की घोषणा की है।

उल्लेखनीय है कि सूरत में एक सड़क किनारे सो रहे 15 दिहाड़ी मजदूरों की एक ट्रक से कुचल जाने के कारण मौत हो गई और कम से कम पांच गंभीर रूप से घायल हो गए। सभी मजदूर राजस्थान के बताए जा रहे हैं।

वार्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *