Hathras Case Updates: बीजेपी बनी बेटी जलाओ पार्टी: झामुमो

  • योगी आदित्यनाथ की गद्दी में लगा एक और बदनूमा दाग

Insight Online News Team

झारखंड मुक्ति मोर्चा के केंद्रीय महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्यने उत्तर प्रदेश के हाथरस में एक दलित बेटी के साथ हुये रेप में भाजपा एवं योगी आदित्यनाथ सरकार को आड़े हाथ लिया। योगी आदित्यनाथ के शासनकाल के तीन वर्षों में महिलाओं और बच्चियों पर हुये दुष्कर्मों के आंकड़ों का हवाला देते हुये सुिप्रयो भट्टाचार्य ने उत्तर प्रदेश की सरकार पर तत्काल कार्रवाई करने की अपील नरेंद्र मोदी से की। उन्होंने आंकड़े पेश करते हुए बताया कि तीन वर्षों में 12 हजार से अधिक बालात्कार हुये हैं। इनमें से 1300 से 1400 बच्चियों की रेप के बाद या तो हत्या कर दी गई या तो जला दिया गया, या फिर उनके परिवार में किसी को मौत के घाट उतार दिया गया। हाथरस की घटना इसका एक ज्वलंत सबूत है जिसने पूरे देश को शर्मसार किया और योगी आदित्यनाथ की गद्दी में एक बदनूमा दाग लगा दिया।

उन्होंने सवाल खड़ा किया जब पुलिसवालों की नृशंस हत्या करने वाले विकास दूबे का शव एनकाउंटर के बाद उसके परिजनों को सौंप दिया गया था तो फिर हाथरस जैसे घृणित एवं दर्दनाक रेपकांड की पीड़िता का शव उनके परिजनों को क्यों नहीं सौंपा गया। परिजनों को शव नहीं सौंपा जाना और लुका छुपी ढंग तथा सरकार की विफलता को छुपाने के लिए आधी रात को पुलिस एवं प्रशासन द्वारा शव का जलाना अपने आप में सरकार के प्रति एक बड़ा प्रश्न चिह्न खड़ा करता है।

इनसाईट ऑनलाइन न्यूज की जानकारी के अनुसार पूरे विश्व के अलग-अलग प्रमुख निष्पक्ष चैनलों जैसे www.aljazeera.com इत्यादि में प्रमुखता से पीड़िता के शव को आधी रात में जलाता हुआ दिखाया है और इससे ज्यादा सबूत क्या हो सकते हैं यही योगी सरकार की नाकामी एवं कुशासन की पोल खोलता है। ऐसी स्थिति में प्रधानमंत्री मोदी चुप क्यों है? पूरे विश्व में उत्तर प्रदेश के इस जघन्य अपराध की निंदा की जा रही है और भाजपा की दोहरी कार्यशैली पर भी चर्चा हो रही है।

भट्टाचार्य ने केंद्र सरकार की महिला मंत्रियों सीतारमण, स्मृति ईरानी को ललकारा और कहा, अब उन्हें बाजार में प्रधानमंत्री को भेंट करने के लिए चूड़ियां नहीं मिल रही क्या? सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि इन महिला मंत्रियों ने दिल्ली की निर्भया मामले में तत्कालीन प्रधानमंत्री को चूड़ियां भेजी थी।

उन्होंने उत्तर प्रदेश सरकार के एंटी रोमियों स्काॅएड पर अल्पसंख्यक वर्ग की महिलाओं के साथ अत्याचार करने का भी आरोप लगाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *