सुनिश्चित करना है कि प्रदेश के हर घर पर तिरंगा फहराए: शिवराज

Insight Online News

भोपाल, 12 अगस्त : मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज कहा कि ‘हर घर तिरंगा’ अभियान हमारी देशभक्ति की अभिव्यक्ति है और यह सुनिश्चित करना है कि प्रदेश के हर घर पर तिरंगा फहराए।

उन्होंने कहा कि हर गाँव और हर वार्ड का कोई घर, तिरंगा अभियान में सम्मिलित होने से न छूटे, यह सुनिश्चित करने के लिए प्रदेश के दूरस्थ गाँवों तक राष्ट्रीय ध्वज की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। जिला कलेक्टर ध्वज के विक्रय केंद्रों की जानकारी के प्रचार-प्रसार पर विशेष ध्यान दें। जन-जन को हर घर तिरंगा अभियान में सम्मिलित होने के लिए प्रेरित करने सभी मंत्री, नव निर्वाचित जन-प्रतिनिधि, सामाजिक कार्यकर्ता, शासकीय अधिकारी-कर्मचारी, विभिन्न संगठन के पदाधिकारी तथा विद्यार्थी राष्ट्रीय ध्वज लहराते और अपने घरों पर राष्ट्रीय ध्वज लगाते हुए सोशल मीडिया पर अपनी फोटो अवश्य अपलोड करें।

आधिकारिक जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री श्री चौहान इस अभियान की प्रदेश में जारी तैयारियों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से समीक्षा कर रहे थे। बैठक में मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव सामान्य प्रशासन विनोद कुमार, प्रमुख सचिव संस्कृति शिव शेखर शुक्ला, प्रमुख सचिव जनसंपर्क राघवेंद्र कुमार सिंह और पुलिस महानिदेशक सुधीर सक्सेना उपस्थित थे। सभी जिलों के प्रभारी मंत्री, संभाग स्तरीय अधिकारी और जिलों के कलेक्टर तथा पुलिस अधीक्षक बैठक से वर्चुअली जुड़े।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी के नेतृत्व में देश आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है। हर घर तिरंगा अभियान ने आनंद और उत्साह से आजादी का पर्व मनाने का अवसर प्रदान किया है। प्रदेशवासियों के मन में राष्ट्र ध्वज के प्रति सम्मान और देश भक्ति की भावना उत्पन्न करने जिलों द्वारा किए जा रहे नवाचार सराहनीय हैं। समाज के सभी वर्गों, जन अभियान परिषद, शैक्षणिक और सामाजिक संस्थान, जन-प्रतिनिधियों, सामाजिक कार्यकर्ताओं और नागरिकों की सक्रिय भागीदारी से इस अभियान की गतिविधियों का आयोजन किया जाए।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने दतिया जिले में अभियान के अंतर्गत किए गए झंडा बिग्रेड के नवाचार की सराहना की। उन्होंने अन्य जिलों को भी इसका अनुसरण करने को कहा। उल्लेखनीय है कि 13 से 15 अगस्त की अवधि में हर घर पर तिरंगा फहराना सुनिश्चित करने के लिए दतिया जिले में प्रत्येक पचास घरों पर दो-दो व्यक्तियों की झंडा बिग्रेड बनाई जा रही है। बैठक में जानकारी दी गई कि प्रदेश में ध्वज वितरण के लिए 40 हजार केन्द्र स्थापित किए गए हैं। इनमें 9 हजार शहरी क्षेत्र तथा 31 हजार ग्रामीण क्षेत्र में हैं। प्रदेश में एक करोड़ 50 लाख तिरंगे झंडों की आपूर्ति के विरुद्ध 1 करोड़ 54 लाख झंडे प्राप्त हुए हैं। इनमें से एक करोड़ 39 लाख झंडों का वितरण किया जा चुका है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इन्दौर, सागर, नरसिंहपुर, देवास और दतिया जिलों को वितरण और रीवा, ग्वालियर, छतरपुर, सागर और दमोह जिलों में झंडों की विक्रय प्रक्रिया को गति देने के निर्देश दिए।

बैठक में हर घर तिरंगा अभियान में विभिन्न जिलों में किए जा रहे नवाचारों की जानकारी दी गई। प्रदेश के प्रमुख संरक्षित स्मारकों, संग्रहालयों पर 5 से 15 अगस्त तक तीन रंगों की प्रकाश व्यवस्था की गई है। जिलों में एनसीसी, एनएसएस, पुलिस आदि की साईकिल, बाइक, कार रैली, मैराथन, जन-जागरण के लिए प्रभात फेरी, महापुरुषों की प्रतिमा की साफ-सफाई और सजावट, सांस्कृतिक कार्यक्रम आदि आयोजित किए जा रहे हैं। संस्कृति विभाग द्वारा 8 से 15 अगस्त तक के लिए सुझावात्मक कार्यक्रमों का स्वरूप भी जिलों को भेजा गया है।

हर घर तिरंगा अभियान के लिए वातावरण निर्मित करने के उद्देश्य से बैतूल में मानव श्रंखला, नीमच में जिला प्रशासन और हेल्पिंग हैंड्स सोसाइटी द्वारा आकर्षक तिरंगा आकृति, हरदा में एनएसएस द्वारा स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों की वेशभूषा में रैली, शिवपुरी में आईटीबीपी और सीआरपीएफ के सहयोग से मानव श्रंखला, बालाघाट के नक्सल प्रभावित इलाके में हॉक फोर्स द्वारा विशेष जागरूकता अभियान, कटनी में अमृत सरोवर पर तिरंगा यात्रा निकाली गई। इन्दौर में लोक परिवहन सिटी बसों से अभियान का प्रचार-प्रसार किया जा रहा है। अनूपपुर में तिरंगा मय मुहर्रम मनाया गया। नर्मदापुरम में महिलाओं के स्व-सहायता समूह विकासखंड स्तर पर वातावरण निर्माण के लिए सक्रिय हैं। झाबुआ में तिरंगा गरबा का आयोजन किया गया। मण्डला में बैगा टोला, वन ग्राम और मछुआ समाज को अभियान से जोड़ने के लिए विशेष गतिविधियाँ की जा रही हैं। वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में अन्य जिलों में हो रहे नवाचारों की जानकारी भी दी गई।

गरिमा, वार्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *