Health Benefits Of Date palm : विटामिन और मिनरल से भरपूर शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है खजूर

Insight Online News

पूरी दुनिया में फैली वैश्विक महामारी कोरोना कमजोर रोग प्रतिरोधक क्षमता के कारण लोगो को आसानी से अपना शिकार बनी रही है। गलत खानपान और बदलती लाइफस्टाइल के कारण हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो गई है।इसलिए खानपान का विशेष ध्यान रखना आवश्यक होता है। आप अपनी खानपान में खजूर को शामिल कर पर्याप्त मात्रा में विटामिन, कैल्शियम, आयरन, फाइबर तत्व का पोषण शरीर को दे सकते है।

जिससे हमारा शरीर स्वस्थ बना रहता है। आप प्रतिदिन खजूर का इस्तेमाल सीधे तौर पर खा कर और दूध में मिला कर भी कर सकते है। प्रतिदिन खजूर का सेवन करने से हमारा इम्यून सिस्टम (शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता) मजबूत होता है। जिससे हमारे शरीर की बीमारियों से लड़ने की शक्ति बढ़ जाती है।

खजूर एक ऐसा फल है जो सेहत के लिए बहुत ही अच्छा है। इसमें पोषक तत्व पाए जाते हैं और माना जाता है कि ये कई बीमारियों को दूर करने में मददगार होता है। यह पोषक तत्वों का भंडार है इसमें आयरन, मिनरल, कैल्शियम, अमीनो एसिड, फॉस्फोरस और विटामिन्स पाया जाता है। खजूर सेहत के साथ खूबसूरती भी निखारती है। इसमें कोलेस्ट्रोल नहीं होता है और एक खजूर से 23 कैलोरी मिलती है।

इसके साथ ही यह सेल डैमेज, कैंसर से बचाव और दिल से जुड़ी समस्याओं से बचाव में भी बहुत कारगर है। इसमें भरपूर मात्रा में आयरन होता है जो खून की कमी, बालों को मजबूत व झड़ने से रोकने में मददगार होता है। खजूर अंडरवेट को मेकप करने व हड्डियों को मजबूत, कब्ज की समस्या को दूर करने, पाचन तंत्र को ठीक रखने और त्वचा के लिए फायदेमंद होता है।

खजूर में पर्याप्त मात्रा में ग्लूकोज, फ्रक्टोज और सुक्रोज पाया जाता है। इसलिए तुरंत ताकत के लिए इसका सेवन बहुत फायदेमंद होता है। दो से चार खजूर खाने से भी आपको तुरंत ही एनर्जी मिल जाएगी।

अगर आप अंडरवेट हैं तो खजूर का सेवन आपके लिए बहुत फायदेमंद है। इसमें शुगर, विटामिन और कई जरूरी प्रोटीन होते हैं जो वजन बढ़ाने का काम करते हैं। अगर आप बहुत दुबले-पतले हैं तो हर रोज चार से पांच खजूर खाना शुरू कर दीजिए।

खजूर में मौजूद लवण हड्डियों को मजबूत बनाने का काम करते हैं। इसमें कैल्शयिम, सेलेनियम, मैगनीज और कॉपर की मात्रा होती है। इनसे हड्डियों को मजबूती मिलती है।
जिन लोगों को अपच या कब्ज की समस्या है उन्हें खजूर खाने की सलाह दी जाती है। इसमें पर्याप्त मात्रा में फाइबर्स होते हैं, जिससे पाचन क्रिया सही बनी रहती है। हर रात चार खजूर पानी में डालकर रख दीजिए और सुबह उठकर इसे खाइए। आपको कुछ ही वक्त में फायदा नजर आने लगेगा।

खजूर त्वचा के लिए भी बहुत फायदेमंद होते हैं। खजूर खाने से चेहरे पर उभर आने वाली महीन रेखाएं समाप्त हो जाती हैं और त्वचा पर निखार आता है।

हम सभी जानते हैं कि स्वाद में मीठा खजूर दिखने में भले ही छोटा हो, लेकिन गुणों की खान होता है। खजूर तीन प्रकार के होते हैं रू खजूर, पिंड खजूर तथा गोस्तन खजूर। दरअसल खजूर सूखने पर छुहारा कहलाता है। खजूर एक प्रकार का सस्ता मेवा भी है। दमा, खांसी, बुखार तथा मूत्र संबंधी रोगों में भी खजूर का प्रयोग गुणकारी होता है। यूनानी चिकित्सा में खजूर को उष्ण तथा तर प्रकृति का माना गया है। यूनानी मत के अनुसार यह थकावट दूर करने वाला, शरीर को पुष्ट करने वाला तथा गुर्दों की शक्ति बढ़ाने वाला होता है।

विभिन्न रोगों के उपचार में खजूर का प्रयोग किया जाता है जैसे सर्दी−जुकाम होने पर खजूर को एक गिलास दूध में उबाल कर खा लें फिर ऊपर से वही दूध पीकर मुंह ढंककर सो जाएं। खजूर की गुठली को पानी में घिसकर लेप बनाकर माथे पर लगाने से सिरदर्द दूर होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *