Health update for women : अधिक मात्रा में गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन महिलाओं को बना सकता है बांझपन का शिकार

नई दिल्ली : आपातकालीन गर्भनिरोधक गोलियां महिलाओं को गर्भावस्था रोकने का मौका जरूरत देता है, लेकिन इसके साथ ही दुष्प्रभाव भी लेकर आती है। अनचाहे गर्भ से बचने के लिए गर्भनिरोधक गोलियां खाना एक आसान तरीका जरूर है, लेकिन नियमित रूप से इसे लेते रहने से शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य प्रभावित हो सकता है।

खबर के मुताबिक इन गोलियों का नियमित सेवन हार्मोन के अन बेलेन्स का कारण बन सकता है। इन गोलियों को लेने से पहले भी डॉक्टर की सलाह लेना जरूरी होती है। इस मामले में myUpchar से जुड़े डॉ. विशाल मकवाना का कहना है कि 25-45 साल की आयु की महिलाओं का इन गोलियों को लेना तो भी ठीक है लेकिन अगर किशोरियों ने इसका इस्तेमाल बार-बार किया तो उनकी प्रजनन प्रणाली गड़बड़ा सकती है और इसके विकास को बाधित कर सकती है। उन युवा लड़कियों का गोलियां लेना जिनका हार्मोन का स्तर अभी स्थिर नहीं हुआ है, बड़ा जोखिम है।

उन्होंने बताया कि ऐसी लड़कियां एंडोमेट्रियोसिस, पॉलिसिस्टिक ओवरी डिसीज जैसी समस्याओं की शिकार हो सकती हैं। साथ ही उनमें एक्टोपिक प्रेगनेंसी यानी अस्थानिक गर्भधारण की शिकायत भी हो सकती है। यह ऐसी स्थिति है, जिसमें निषेचित अंडा गर्भाशय के अलावा गर्भाशय से जुड़ने की बजाए अधिकतर फैलियोपिन ट्यूब में जुड़ जाता है। यह अंडाशय में भी हो सकता है। एक्टोपिक गर्भावस्था के दौरान जब फैलोरियन ट्यूब में खिंचाव बढ़ जाता है तो यह टूट जाती है। इससे आंतरिक रक्तस्त्राव, संक्रमण और कभी-कभी मृत्यु भी हो जाती है।

Amazon_Fashion_1

इसके अलावा इन गोलियों के नियमित सेवन से अनियमित माहवारी के कारण बांझपन, कामेच्छा में कमी, त्वचा की एलर्जी जैसी समस्याएं भी पैदा हो जाती हैं। इन गोलियों के सेवन से स्तन में सूजन की शिकायत हो सकती है। ये गोलियां शरीर में एस्ट्रोजन के स्तर को कम करने में मुख्य भूमिका निभाती हैं, जिससे सिर दर्द की दिक्कत शुरू हो जाती है। कुछ मामलों में तो उल्टी, मितली, पेट दर्द, चक्कर आना आदि शिकायतें रहती हैं। वहीं चिड़चिड़ापन ज्यादा बढ़ जाता है।वहीं इन गोलियों के नियमित सेवन से कुछ महिलाओं में वजन बढ़ने की आशंका भी होती है। इन गोलियों के सेवन से शरीर के अलग-अलग हिस्सों में फ्लूइट रिटेंशन बढ़ जाता है, जिससे वजन पर नियंत्रण नहीं रहता है।

आपातकालीन गर्भ निरोधक में लेवोनोरगेस्ट्रल होता है, जिससे किसी महिला को एलर्जी हो सकती है। इसलिए डॉक्टर की सलाह के बिना गोली नहीं लेनी चाहिए। साथ ही इस बात का ध्यान रखना जरूरी है कि किसी बीमारी से पीड़ित होने और उसके लिए कुछ दवा ले रहे हों तो गोली लेने से पहले डॉक्टर से परामर्श करें।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *