Hindu temple attacked in Pakistan : पाकिस्तान में मंदिर पर फिर से हमला, भीड़ ने तोड़ी प्रतिमाएं

Insight Online News

पाक में चरम पर अराजकता, हिंदू मंदिर फिर से बना कट्टरपंथियों का निशाना

कट्टरपंथियों ने मूर्तियों को तोड़ा, मंदिर को किया आग के हवाले हजारों उपद्रवियों ने दिया इस हिंसात्मक घटना को अंजाम जबकि पुलिस रही गायब, अब हालात पर नियंत्रण के लिए सेना की गई है तैनात

LAHORE (6 Aug, Agency) : पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में एक बार फिर हिंदू मंदिर पर कट्टरपंथियों की अगुवाई में हजारों लोगों ने हमला कर दिया. रहीम यार खान जिले के इस भव्य गणेश मंदिर में
घुसकर उन्मादी कट्टरपंथियों ने सभी मूर्तियों को तोड़ डाला. मंदिर के बड़े हिस्से में आग लगा दी. हालात बेकाबू होने के बाद सेना तैनात की गई. यहां रहने वाले हिंदुओं के सौ परिवारों का जीवन खतरे में है. हमलावरों ने इन हिंदुओं को भी निशाना बनाने की कोशिश की

लगातार हो रही ऐसी घटनाएं द्यएएनआई के अनुसार हिंदू मंदिरों पर हमले तेजी से बढ़ रहे हैं. दिसंबर 2020 में सैकड़ों लोगों की भीड़ ने खैबरपख्तूनख्वा के कराक जिले में एक हिंदू मंदिर को बुरी तरह क्षतिग्रस्त करते हुए आग लगा दी थी. हाल ही में सुप्रीम कोर्ट को अल्प संख्यकों के पूजा स्थल की एक रिपोर्ट सौंपी गई है. इसमें कहा गया है कि पाकिस्तान मंदिरों की पवित्रता बनाए रखने में पूरी तरह असफल रहा है. अमेरिका के मानवाधिकार परिषद ने भी पाक में धार्मिक स्वतंत्रता को खतरनाक स्तर पर माना है.

Pakistan_Violence_1

मंदिर के निकट रहने वाले सौ हिंदू परिवारों की जान को भी है अब खतरा

इलाके का सबसे बड़ा मंदिर बना निशाना अल्पसंख्यक हिंदुओं के मंदिर पर यह हिंसक घटना लाहौर से 590 किमी दूर हुई.
यहां के रहीमयार खान जिले के भोंग में हिंदुओं का बड़ा और भव्य मंदिर है.
इस मंदिर को गणेश मंदिर के नाम से जाना जाता है. मंदिर पर अचानक कट्टरपंथियों ने हजारों लोगों की भीड़ के साथ हमला बोल दिया.
यहां मूर्तियों को पूरी तरह तोड़ दिया गया. मंदिर की सजावट में लगे झूमर, कांच के सामान को नष्ट कर दिया गया.
यही नहीं भीड़ ने मंदिर परिसर को आग के हवाले कर दिया.
भोंग में हिंदू मंदिर पर घंटों तक चली तोडफ़ोड़ और आगजनी के दौरान पूरी अराजकता रही.
योजनाबद्ध तरीके से की गई हिंसा में पुलिस शामिल रही. वहां एक पुलिसकर्मी भी नहीं पहुंचा.

सुप्रीम कोर्ट से कार्रवाई की मांग सत्तारुढ़ इमरान की पार्टी तहरीक-ए-इंसाफ के सांसद डॉ. रमेश कुमार वंकवानी ने मंदिर पर हमले के वीडियो ट्वीटर पर साझा किए हैं.
इन वीडियो में कट्टरपंथि मुस्लिम मूर्तियों को निशाना बनाकर तोड़ रहे हैं.
मंदिर परिसर में आग भी लगी दिखाई दे रही है.
सांसद वंकवानी ने अपने ट्वीट में कहा है कि भोंग में हालात बेहद खराब हैं.
पुलिस की लापरवाही शर्मनाक है. उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश से कार्रवाई की मांग की है.
पाकिस्तान में अराजकता का आलम यह है कि घंटों चली हिंसा में अभी तक किसी की भी गिरफ्तारी नहीं हुई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *