अनियमित कालोनियों के 50 गज तक के मकानों को दी जाए गृह कर से छूटः गोयल

नयी दिल्ली , 23 सितंबर : उत्तरी दिल्ली नगर निगम में कांग्रेस दल के नेता एवं वरिष्ठ निगम पार्षद मुकेश गोयल ने अनियमित कालोनियों में रहने वालों को गृह कर में छूट दिए जाने के भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के दावे को आंखों में धूल झोंकने जैसा बताया है।

श्री गोयल ने बुधवार को कहा कि जब तक यह कालोनियां नियमित नहीं हो जातीं, तब तक निगम को यहां से गृह कर वसूलने का कोई अधिकार नहीं है।

उन्होंने कहा कि दिल्ली की 1700 से ज्यादा अनियमित कालोनियों में ज्यादातर गरीब लोग रहते हैं। इन कालोनियों में रहने वाले ज्यादातर लोगों ने अपने रहने के लिए 25, 30 और 50 गज के मकान बना रखे हैं, जबकि निगम इन कालोनियों में कोई सेवाएं नहीं दे पा रहा है। ऐसे में यदि हाउस टैक्स वसूला भी जाता है तो, अनियमित कालोनियों के 50 गज तक के मकानों को गृह कर के दायरे से बाहर रखा जाना चाहिए।
श्री गोयल ने कहा कि निगम इन कालोनियों में सफाई जैसी मूलभूत सुविधा तक नहीं दे पा रहा है। ऐसे में यहां से गृह कर भी नहीं वसूला जाना चाहिए। सत्ताधारी भाजपा के नेता केवल कर वसूली बढ़ाने के लिए इस तरह की घोषणाएं कर रहे हैं। नियमानुसार जिस साल से अनियमित कालोनियों को नियमित किया जाए, उसी साल से यहां से गृह कर वसूला जाना चाहिए।

वरिष्ठ पार्षद ने निगमायुक्त और महापौर से मांग की है कि पहले अनियमित कालोनियों से हाउस टैक्स वसूली की योजना को संशोधित किया जाए। अनियमित कालोनियों के 50 गज तक के मकानों को गृह कर के दायरे से बाहर किया जाए। इन कालोनियों को पहले नियमित किया जाए और इसके बाद ही इन कालोनियों से हाउस टैक्स की वसूली सुनिश्चित की जानी चाहिए।

मिश्रा आशा, वार्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *