Hospital for Corona Treatment : रामगढ़ में कोविड-19 के इलाज के लिए तय हुआ हॉस्पिटल का दर

Insight Online News

रामगढ़, 23 अप्रैल : जिले में अक्सर इस बात की शिकायत मिल रही थी की हॉस्पिटल प्रबंधन कोरोना के इलाज के नाम पर मरीजों को लूट रहे हैं। अब राज्य सरकार ने कोरोना के इलाज के लिए आइसोलेशन बेड, आईसीयू और वेंटिलेटर का दर निर्धारित कर दिया है। डीसी संदीप सिंह ने शुक्रवार को बताया कि राज्य स्तर पर तीन कैटेगरी बनाई गई है। जिला कैटेगरी ‘बी’ में आता है। इसलिए यहां भी हॉस्पिटल में इलाज के लिए दर का निर्धारण हुआ है। रामगढ़ जिले में कुछ अस्पताल एनएबीएच (नेशनल एक्रीडिटेशन बोर्ड ऑफ हॉस्पिटल्स एंड हेल्थ केयर) से अप्रूव्ड हैं। कुछ अस्पतालों को एनएबीएच की मान्यता प्राप्त नहीं है। कोविड-19 मरीजों के इलाज के लिए सभी निजी अस्पतालों में 50 फ़ीसदी बेड भी सुरक्षित कर दिया गया है।

रामगढ़ जिले में अगर किसी व्यक्ति को अस्पताल में भर्ती कराया जाता है तो उन्हें मॉडरेट इलनेस, आइसोलेशन बेड, ऑक्सीजन सपोर्ट और हॉस्पिटल केयर के लिए 7000 प्रतिदिन भुगतान करना होगा। इसके अलावा अगर उन्हें आईसीयू में भर्ती कराया जाता है तो उन्हें 8500 प्रतिदिन भुगतान करना होगा।

आईसीयू में अगर वेंटिलेटर का सपोर्ट मरीज को लगाया जाता है तो उसका चार्ज 11000 प्रति दिन निर्धारित किया गया है। यह चार्ज एनएबीएच से अप्रूव्ड अस्पतालों के लिए है। जिन अस्पतालों को एनएबीएच से मान्यता प्राप्त नहीं है। वे लोग मॉडरेट इलनेस, आइसोलेशन बेड, ऑक्सीजन सपोर्ट और हॉस्पिटल केयर के लिए 6500 का चार्ज ही मरीज से ले सकते हैं। अगर उनके यहां आईसीयू की सुविधा है तो 8000 रुपए प्रति दिन और अगर वे मरीज को आईसीयू के साथ-साथ वेंटिलेटर की सुविधा उपलब्ध कराते हैं तो 10500 प्रतिदिन की दर से वह मरीज से भुगतान ले सकते हैं।

हिन्दुस्थान समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *