Husband Wife Relation Hindi News : पति-पत्नी की तरह रहने वालों में मेल पार्टनर क्रूर हो तो क्या संबंध बनाना रेप होगा? सुप्रीम कोर्ट का सवाल

नई दिल्ली। पति-पत्नी की तरह रहने वाले कपल में अगर मेल पार्टनर क्रूरता करता हो तो क्या मेल पार्टनर ने जो शारीरिक संबंध बनाया है वो रेप माना जाएगा? सुप्रीम कोर्ट ने ये सवाल किया है। शादी का वादा कर संबंध बनाने के रेप मामले को रद्द करने की गुहार पर सुनवाई के दौरान सर्वोच्च न्यायालय ने सवाल किया।

गिरफ्तारी पर आठ हफ्ते के लिए रोक

सुप्रीम कोर्ट ने ये सवाल किया कि क्या पति-पत्नी की तरह रहने वाले कपल में अगर मेल पार्टनर भले ही क्रूरता हो तो क्या उनके बाद बनाए जाने वाले शारीरिक संबंध को रेप कहा जाना चाहिए। सुप्रीम कोर्ट ने इस दौरान याचिकाकर्ता द्वारा केस रद्द करने की गुहार को ठुकरा दिया लेकिन उसे इस बात की लिबर्टी दी है कि वह आरोपमुक्त करने की अर्जी दाखिल कर सकता है और इस दौरान उसकी गिरफ्तारी पर आठ हफ्ते के लिए रोक लगा दी है।

सुप्रीम कोर्ट ने रेप केस रद्द करने से इनकार

याचिकाकर्ता की ओर से सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दाखिल कर कहा गया कि वह और शिकायती महिला साथ रहते थे और दोनों के बीच सहमति से शारीरिक संबंध बनें हैं। याचिकाकर्ता का दावा है कि महिला के साथ सहमति से संबंध में वह थे और संबंध में किसी कारण खटास आने से उनके खिलाफ रेप का केस दर्ज करा दिया गया है। सुप्रीम कोर्ट ने रेप केस रद्द करने से इनकार कर दिया। लेकिन साथ ही याचिकाकर्ता को लिबर्टी दी है कि वह डिस्चार्ज करने के लिए अर्जी दाखिल कर सकते हैं और गिरफ्तारी पर आठ हफ्ते के लिए रोक लगा दी गई है।

हाई कोर्ट के फैसले के खिलाफ अपील दाखिल

चीफ जस्टिस एसए बोबडे की अगुवाई वाली बेंच ने याचिकाकर्ता को अर्जी वापस लेने की इजाजत दे दी और कहा कि वह खुद को डिस्चार्ज करने की अर्जी दाखिल कर सकते हैं और इस दौरान आठ हफ्ते तक गिरफ्तारी पर रोक लगा रहेगी। इलाहाबाद हाई कोर्ट ने केस रद्द करने से इनकार कर दिया था और कहा था कि ये नहीं कहा जा सकता कि संज्ञेय अपराध नहीं हुआ है। सुप्रीम कोर्ट में हाई कोर्ट के फैसले के खिलाफ अपील दाखिल की गई थी।

-Agency

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *