पाकिस्तान : इमरान खान ने पाक सरकार पर आलोचकों की आवाज दबाने का आरोप लगाया

इस्लामाबाद: पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के अध्यक्ष इमरान खान ने सोमवार को संघीय सरकार पर अपने विरोधियों की आवाज को दबाने के तरीकों का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया। एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार, महिला वकीलों के साथ एक बैठक में खान ने आरोप लगाया कि उनकी सरकार को संविधान का उल्लंघन करते हुए कथित साजिश के चलते हटा दिया गया।

उन्होंने दावा किया कि इस कथित साजिश की सफलता के लिए स्पीकर के स्पष्ट शासन, राज्यपाल और राष्ट्रपति की शक्तियों और संसद की संप्रभुता को समाप्त कर दिया गया।

यह कहते हुए कि सरकार मीडिया और राजनीति में अपने आलोचकों की आवाज को दबाने के लिए सबसे खराब तरीके का सहारा ले रही है, खान ने आगे दावा किया कि वर्तमान सरकार जनता के संवैधानिक और लोकतांत्रिक अधिकारों पर अंकुश लगाना चाहती है।

उन्होंने कहा कि राष्ट्र इस सरकार के खिलाफ लड़ने के लिए तैयार है। खान ने वर्तमान संघीय सरकार को अपने इस्लामाबाद मार्च के लिए भी चेतावनी दी। एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार, पीटीआई के बहुप्रचारित मार्च की तारीख की घोषणा खान 20 मई को करेंगे।

पिछले हफ्ते, खान ने कहा था कि उनके रास्ते में सभी संभावित बाधाओं के बावजूद कम से कम 30 लाख लोग उनके आह्वान पर इस्लामाबाद में (सड़कों पर) उतरेंगे।

उन्होंने एक रैली के दौरान कहा था, मैं 20 मई के बाद लॉन्ग मार्च की तारीख बताऊंगा.आपको असली आजादी के लिए इस्लामाबाद के मेरे लॉन्ग मार्च में शामिल होना होगा।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published.