INC : गुलाम नबी आजाद ने पार्टी की ओर से चलाये जा रहे राहत एवं सहायता कार्यों की जानकारी ली

Insight Online News

रांची, 03 जून : कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की ओर से कोरोना संक्रमण में लोगों की मदद के लिए पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री गुलाम नबी आजाद की अध्यक्षता में गठित रिलीफ टॉस्क फोर्स कमेटी की वर्चुअल बैठक गुरुवार को हुई।

कमेटी के अध्यक्ष गुलाम नबी आजाद ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से देश के सभी राज्यों के प्रदेश कांग्रेस अध्यक्षों और वरिष्ठ नेताओं से ऑनलाइन संपर्क स्थापित कर पार्टी की ओर से चलाये जा रहे राहत एवं सहायता कार्यों की विस्तृत जानकारी ली।

इस वर्चुअल बैठक में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सह राज्य के वित्त तथा खाद्य आपूर्ति मंत्री रामेश्वर उरांव ने सूबे में पार्टी की ओर से चलाये जा रहे राहत एवं सहायता कार्यों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। इस दौरान कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आलम, स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता और कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने भी किये जा रहे कार्यों की विस्तृत जानकारी गुलाम नबी आजाद को दी।

रामेश्वर उरांव ने बताया कि राज्य सरकार ने कोरोना संक्रमण काल में शहरों में अवस्थित सभी अस्पतालों में वेंटिलेटर और ऑक्सीजन बेड सहित अन्य स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने का काम किया है।

केंद्र सरकार के नकारात्मक रवैये के बावजूद राज्य सरकार ने अपने सीमित संसाधनों की बदौलत ना सिर्फ राज्य के सभी कोविड अस्पतालों में ऑक्सीजन की व्यवस्था की, बल्कि दूसरे राज्यों को भी आक्सीजन भेजा गया। सभी जिलों में कोविड अस्पताल की व्यवस्था के साथ प्रखंड मुख्यालयों में भी कोविड केयर सेंटर बनाये गये और सभी प्रखंडों में दो-दो एंबुलेंस की व्यवस्था की गयी, जिससे लोगों को जरूरत पड़ने पर जिला या अन्य अस्पतालों में भर्ती कराया जा सके। सभी विधायकों ने दो-दो एंबुलेंस उपलब्ध करा दिये है, लेकिन दुकान और व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद होने के कारण अभी यह उपलब्ध नहीं हो पाया है। झारखंड में रिकवरी रेट अच्छा है,लेकिन अभी खतरा टला नहीं है। इसलिए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के नेतृत्व में राज्य सरकार अच्छा काम कर रही है।

उन्होंने कहा कि संघीय व्यवस्था की भावना को दरकिनार करते हुए केंद्र सरकार ने 18 प्लस के युवाओं के वैक्सीनेशन की जिम्मेवारी राज्यों के जिम्मे छोड़ दी, यह उचित नहीं है। इसके बावजूद राज्य सरकार की ओर से वैक्सीनेशन के लिए अब तक 240 करोड़ रुपये आवंटित कर दिये गये है। आलमगीर आलम के विभाग ने लाॅकडाउन में काफी अच्छा काम किया।

कृषि मंत्री ने माॅनसून के आगमन के एक महीने पहले किसानों को बीज और खाद उपलब्ध कराने का काम किया। कोरोना संक्रमण के कारण राजस्व संग्रहण में कमी आयी, लेकिन केंद्र सरकार जीएसटी क्षतिपूर्ति की राशि भी समय पर उपलब्ध नहीं करा रही है।

स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने राज्य सरकार द्वारा स्वास्थ्य के क्षेत्र में कोरोना संक्रमण को लेकर किए गए कार्यों की भी विस्तार पूर्वक जानकारी दी। अगर किसी प्रकार की तीसरे कोविड-19 का कोई प्रकोप होता है तो हम उसकी भी तैयारी अभी से कर रहे हैं।

हिन्दुस्थान समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES