मालदीव को परियोजनाओं के क्रियांवयन के लिए 10 करोड़ डॉलर का ऋण देगा भारत

  • प्रधानमंत्री मोदी और मालदीव के राष्ट्रपति सोलिह की मुलाकात
  • 6 समझौतों से जुड़े दस्तावेज किए गये साझा

नई दिल्ली, 02 अगस्त। भारत विभिन्न परियोजनाओं के समयबद्ध क्रियांवयन के लिए मालदीव को 10 करोड़ डॉलर का ऋण देगा। इसके अलावा ग्रेटर माले में 4 हजार सोशल हाउसिंग यूनिट के निर्माण परियोजना में अतिरिक्त 2 हजार सोशल हाउसिंग यूनिट के लिए वित्तीय सहायता देगा।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मालदीव के राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद साेलिह के बीच मंगलवार को दिल्ली के हैदराबाद हाउस में प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता हुई। इसके बाद दोनों नेताओं ने संयुक्त प्रेसवार्ता को संबोधित किया। इस दौरान दोनों नेताओं की उपस्थिति में 6 समझौतों से जुड़े दस्तावेज साझा किए गए।

इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में भारत और मालदीव के बीच रिश्तों में नया जोश आया है और दोनों देशों की नजदीकियां बड़ी है। चुनौतियों के बावजूद भी हमारा सहयोग और व्यापक भागीदारी निरंतर प्रगति पर है। आपसी करीबी सहयोग रक्षा और सुरक्षा के क्षेत्र में बेहद जरूरी है ताकि क्षेत्र में शांति और स्थिरता बनी रहे।

उन्होंने कहा कि भारत ने 10 करोड़ डॉलर की अतिरिक्त ‘लाइन ऑफ क्रेडिट’ देने का निर्णय भी किया है, ताकि सभी परियोजनाएं समय-बद्ध तरीके से पूरे हो सकें। हमने आज ग्रेटर माले में 4 हजार सोशल हाउसिंग यूनिट्स के निर्माण के प्रोजेक्ट्स का रिव्यु भी किया। उन्हें यह घोषणा करते हुए प्रसन्नता है कि हम इसके अतिरिक्त 2 हजार सोशल हाउसिंग यूनिट के लिए भी वित्तीय मदद देंगे।

कार्यक्रम में मालदीव के राष्ट्रपति ने कहा कि दोनों देशों के संबंध कूटनीतिक दायरे से आगे हैं। हमारे मूल्य इतिहास और संस्कृति पारंपरिक संबंध से आपस में जुड़ी हुई हैं। दोनों के बीच संबंध राजनीतिक विश्वास. आर्थिक सहयोग और सुसंगत रणनीतिक नीतियों के माध्यम से लगातार बढ़ रहे हैं। यह यात्रा हमारे बीच विकसित हुए विशेष संबंध की पुष्टि करता है और नियमित संपर्क से जरिए प्रदर्शित होता है।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published.