​भारतीय और ऑस्ट्रेलियाई नौसेनाएं करेंगी साझा अभ्यास

– पूर्वी हिन्द महासागर क्षेत्र में होगा पासेक्स, मालाबार को आमंत्रित नहीं किया गया 

– भारतीय युद्धपोत आईएनएस सह्याद्री और आईएनएस करमुक शामिल होंगे- ऑस्ट्रेलिया का एचएमएएस होबार्ट भी शामिल होगा इस अभ्यास में


नई दिल्ली, 22 सितम्बर । पूर्वी हिन्द महासागर क्षेत्र में बुधवार-गुरुवार को भारतीय और ऑस्ट्रेलियाई नौसेना पैसेज एक्सरसाइज (पासेक्स) करेंगी लेकिन इसमें मालाबार को आमंत्रित नहीं किया गया है। इस अभ्यास में ऑस्ट्रेलिया का एचएमएएस होबार्ट की भागीदारी होगी जबकि भारतीय युद्धपोत आईएनएस सह्याद्री और आईएनएस करमुक शामिल होंगे। इसके अलावा एक भारतीय समुद्री गश्ती विमान और दोनों ओर से हेलीकॉप्टर भी अभ्यास में भाग लेंगे।भारतीय नौसेना के प्रवक्ता ने बताया कि इस अभ्यास का उद्देश्य अंतर-क्षमता को बढ़ाना, समझ में सुधार लाना और एक-दूसरे से सर्वोत्तम अभ्यासों को आत्मसात करना है, जिसमें उन्नत सतह और हथियार-फायरिंग, सीमन्सशिप अभ्यास, नौसेना युद्धाभ्यास और क्रॉस डेक फ्लाइंग ऑपरेशंस सहित एंटी-एयर एक्सरसाइज शामिल होंगे। भारतीय नौसेना इस तरह के अभ्यास नियमित रूप से मित्रवत विदेशी नौसेनाओं के साथ एक दूसरे के बंदरगाहों पर या समुद्र में यात्रा के दौरान संचालित करती है। यह अभ्यास पूर्वी हिन्द महासागर क्षेत्र में किया जा रहा है जो विशेष रूप से समुद्री क्षेत्र में रक्षा सहयोग में व्यापक रणनीतिक भागीदारों के रूप में भारत-ऑस्ट्रेलियाई द्विपक्षीय संबंधों की बढ़ती ताकत को दर्शाता है।

उन्होंने बताया कि दोनों नौसेनाओं का यह साझा अभ्यास भारत-ऑस्ट्रेलिया रक्षा संबंधों को मजबूत करने की दिशा में एक और कदम होगा। अंतरराष्ट्रीय नियमों के अनुसार वैश्विक कॉमन की सुरक्षा और सुरक्षा बढ़ाने के लिए दोनों सरकारों के निरंतर प्रयासों को इससे बल मिलेगा। दोनों देशों की नौसेनाओं ने नियमित अभ्यासों के माध्यम से मजबूत संबंध बनाये हैं। इसी तरह ऑस्ट्रेलियाई नौसेना भी हर दो साल में एक बार ‘ओसिंडेक्स’ आयोजित करती है। कोविड-19 महामारी की गाइडलाइंस का सख्ती पालन करते हुए इस अभ्यास को संचालित किया जाएगा और दोनों नौसेनाओं के भाग लेने वाले कर्मियों के बीच कोई भी शारीरिक संपर्क नहीं होगा।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *