Indian Railway News Update : पश्चिम रेलवे ने लम्‍बी दूरी की ट्रेनों की मांग को पूरा करने के लिए उठाए अनेक कदम

मुंबई, 10 अप्रैल, । पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक आलोक कंसल ने एक वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए लम्‍बी दूरी की ट्रेनों में जाने वाले यात्रियों की सुविधा के लिए अतिरिक्त ट्रेनें चलाने, स्टेशनों और ट्रेनों में कोविड-19 का अनुपालन सुनिश्चित करने, भीड़ प्रबंधन के लिए सुरक्षा उपाय तथा रेलकर्मियों के लिए कोविड-19 टीकाकरण अभियान आदि से संबंधित विभिन्‍न मुद्दों पर महत्‍वपूर्ण जानकारी दी। साथ ही महाप्रबंधक ने की कोविड-19 के लिए निर्धारित दिशा-निर्देशों का पालन करने की अपील की।

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुमित ठाकुर द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, महाप्रबंधक कंसल ने बताया कि वर्तमान में पश्चिम रेलवे 266 लम्‍बी दूरी की ट्रेनें चला रही है, जो पूर्व कोविड अवधि में भी चलाई गई थीं। ये ट्रेनें उन 310 ट्रेनों का लगभग 90 प्रतिशत है, जो पूर्व कोविड अवधि में चलाई जा रही थीं। इसके अलावा त्योहारी सीजन के कारण यात्रियों की वृद्धि के मद्देनज़र जनवरी, 2021 से मार्च, 2021 तक 30 जोड़ी त्योहार स्पेशल ट्रेनों की शुरुआत की गई, जिन्हें अब जून, 2021 तक बढ़ा दिया गया है। गर्मियों की शुरुआत के साथ कई और ट्रेनें जल्द ही यात्रियों की सुविधा के लिए चलाई जायेगी।

कंसल ने बताया कि विभिन्न स्थानों विशेषकर पटना, गोरखपुर, भागलपुर, गाजीपुर, गुवाहाटी के लिए 14 ग्रीष्मकालीन विशेष ट्रेनों का निर्धारण किया गया है और इन्‍हें अगले कुछ दिनों में चलाया जायेगा। इसी तरह ट्रेनों की प्रतीक्षा सूची की दैनिक निगरानी की जाती है और अतिरिक्त डिब्‍बों को मौजूदा ट्रेनों में पर्याप्त प्रतीक्षा सूची वाले यात्रियों के साथ भीड़ को कम करने के लिए जोड़ा जाता है। सिर्फ मार्च के महीने में ही पश्चिम रेलवे द्वारा अतिरिक्त भीड़ को समायोजित करने के लिए 42 ट्रेनों में 575 से अधिक कोचों को अस्थायी रूप से जोड़ा गया।

इस अवसर पर महाप्रबंधक कंसल ने यात्रियों से रेलवे स्टेशन परिसरों में भीड़ न करने की अपील की। उन्होंने एक बार फिर स्पष्ट किया कि केवल कंफर्म टिकट वाले यात्रियों को ही स्टेशन परिसर में प्रवेश करने दिया जाएगा और किसी अन्य व्यक्ति को स्टेशन परिसर में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। कोविड प्रोटोकॉल के कारण प्लेटफार्म टिकट भी जारी नहीं किए जा रहे हैं। कुछ स्टेशनों पर, यह देखा गया है कि नगरपालिका/ राज्य अधिकारियों द्वारा लगाए गए कर्फ्यू से बचने के लिए लम्‍बी दूरी की ट्रेनों में जाने वाले यात्री स्टेशन पर पहले से ही एकत्रित हो रहे हैं।

उन्‍होंने कहा कि पश्चिम रेलवे संबंधित अधिकारियों से अनुरोध कर रही है कि वे स्टेशन पर भीड़भाड़ से बचने के लिए वैध और कंफर्म टिकट वाले यात्रियों को कर्फ्यू अवधि के दौरान भी यात्रा करने की अनुमति दें। अनधिकृत यात्रियों पर अंकुश लगाने के लिए टिकट चेकिंग तेज कर दी गई है। इस संबंध में मार्च, 2021 के सिर्फ एक महीने में 2.75 करोड़ रुपये के जुर्माने की वसूली की गई। इसके अलावा यात्रियों की आवाजाही को सुव्यवस्थित करने के लिए स्टेशनों पर आरपीएफ, जीआरपी और टिकट चेकिंग स्‍टाफ की संख्‍या बढ़ाई गई है। स्टेशनों के साथ-साथ ट्रेनों में भी सुरक्षा उपाय सुनिश्चित किए गए हैं। पश्चिम रेलवे के आठ चिह्नित रेल मार्गों पर चलने वाली 194 ट्रेनों में सामान्‍यत: रात्रिकालीन सफर के दौरान एस्‍कॉटिंग करने के लिए 570 से अधिक आरपीएफ एवं जीआरपी कर्मचारियों की तैनाती की गई है। एमसीजीएम द्वारा रेलवे परिसर में मास्क के बिना यात्रियों का पता लगाने और उन्हें दंडित करने के लिए मार्शलों की तैनाती की गई है।

कोविड वैक्सीन के साथ रेल कर्मचारियों के टीकाकरण के संबंध में बोलते हुए कंसल ने बताया कि पश्चिम रेलवे ने टीकाकरण कार्यक्रम शुरू करने के लिए संबंधित राज्य सरकार और महानगरपालिका अधिकारियों के साथ समन्वय किया है। उल्‍लेखनीय है कि जगजीवन राम अस्पताल, मुंबई में टीकाकरण अभियान की शुरुआत 8 मार्च, 2021 को स्वयं महाप्रबंधक द्वारा टीकाकरण की पहली खुराक लेने से हुई थी। इसके फलस्‍वरूप उन्होंने सभी पात्र कर्मचारियों को कोविड वैक्सीन लेने के लिए एक अनुकरणीय उदाहरण प्रस्‍तुत किया है। अब तक पश्चिम रेलवे के कर्मचारियों और उनके परिवारजनों को लगभग 20000 टीके लगाये गए हैं।

जगजीवन राम अस्पताल में प्रतिदिन 250 से अधिक तथा विभिन्‍न मंडल अस्पतालों में लगभग 1000 टीके मेडिकल और पैरामेडिकल स्टाफ, फ्रंटलाइन स्टाफ तथा कर्मचारियों को लगाये जा रहे हैं। शत-प्रतिशत आरपीएफ स्टाफ और लगभग 90 प्रतिशत मेडिकल स्टाफ को कवर किया गया है। विशेष रूप से फ्रंटलाइन स्टाफ सहित रेलवे के पूरे स्टाफ को कवर करने के हरसम्‍भव प्रयास चल रहे हैं। कंसल ने यह भी बताया कि पश्चिम रेलवे के पास 410 आइसोलेशन कोच उपलब्ध हैं, इनमें से 152 कोच मुंबई क्षेत्र में उपलब्‍ध हैं। ये कोच संबंधित राज्य सरकार द्वारा मांग के अनुसार उपयोग के लिए तैयार और उपलब्ध रहेंगे।

महाप्रबंधक कंसल ने रेल परिसर में प्रवेश करने वाले सभी लोगों से बोर्डिंग, यात्रा और गंतव्य पर पहुंचने के दौरान कोविड-19 से संबंधित सभी मानदंडों का पालन करने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि पश्चिम रेलवे अतिरिक्त ट्रेनों को चलाने और मौजूदा ट्रेनों में अतिरिक्‍त कोच जोड़ने के लिए सभी संभव प्रयास सुनिश्चित कर रही है। महाप्रबंधक ने लोगों से अपुष्ट और नकली वीडियो साझा नहीं करने और कोविड के साथ अफवाहों की श्रृंखला को तोड़ने का भी अनुरोध किया। पश्चिम रेलवे द्वारा कोविड-19 के लिए निर्धारित प्रोटोकॉल एवं नियमों का अनुपालन सुनिश्चित करवाने के लिए विभिन्‍न सोशल मीडिया प्‍लेटफॉर्मों और रेलवे स्‍टेशनों के डिजिटल स्‍क्रीन पर आकर्षक इन्फोग्राफिक्स, वेब कार्ड्स, ई-पोस्‍टर्स और वीडियो फिल्‍मों के जरिये सघन जागरूकता अभियान भी चलाये जा रहे हैं।

(हि. स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *