Indian Super League : बेंगलुरू ने चेन्नइयन को 4-2 से हराया

गोवा, 31 दिसंबर। बेंगलुरू एफसी ने चेन्नइयन एफसी के मजबूत डिफेंसिव किले को भेदकर इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) 2021-22 का रोमांचक मुकाबला 4-2 से जीत लिया। इस जीत से बेंगलुरू दसवें से आठवें स्थान पर पहुंच गई है। जर्मन कोच मार्को पेज्जैउली की टीम बेंगलुरू के नौ मैचों में दूसरी जीत और तीन ड्रा से 9 अंक हो गए हैं। वहीं, अपनी तीसरी हार के बाद भी चेन्नइयन छठे स्थान पर बरकरार है। कोच बोजिदार बांदोविक की टीम के आठ मैचों में तीन जीत और दो ड्रा से 11 अंक हैं।

गुरुवार रात वास्को डे गामा स्थित तिलक मैदान स्टेडियम में दक्षिण भारतीय प्रतिद्वंद्वी के बीच संघर्षपूर्ण मैच देखने को मिला। इसमें चेन्नइयन अपने डिफेंसिव आवरण से बाहर जरूर निकली और उसने आक्रामक रुख भी अपनाया। लेकिन इससे चेन्नइयन की डिफेंस में दरार आ गई और बेंगलुरू को कई अवसर मिले। लिहाजा, बंगलुरू की ओर से दोनों हाफ में दो-दो यानी कुल चार गोल दागे गए। पिछले मैच में भी चेन्नइयन की मजबूत डिफेंस केरला ब्लास्टर्स के सामने बिखर गई थी और उसे 0-3 की हार मिली थी

पहला हाफ काफी कशमकश भरा रहा। दोनों ही टीमों ने एक-दूसरे पर लगातार हमले बोले और गोल करने के अवसर बनाए। मिर्लान मुर्जाएव शुरुआती गोल के कारण चेन्नइयन की टीम 20 मिनट तक आक्रामक दिखा दी और बेंगलुरू की डिफेंस पर दबाव रखा। लेकिन इसके बाद बेंगलुरू ने पासा पलटते गेंद और खेल पर नियंत्रण बनाया। लिहाजा, उसे पेनाल्टी मिली। ब्राजीली खिलाड़ियों क्लींटन सिल्वा और एलेन कोस्ट के गोल से बेंगलुरू को बढ़त मिली। बेंगलुरू का दबदबा पहले हाफ के शेष समय तक बना रहा। मध्यांतर तक स्कोर उसके पक्ष में 2-1 रहा।

मैच का पहला गोल चौथे मिनट में आया, जब मिर्लान मुर्जाएव के गोल से चेन्नइयन एफसी को 1-0 की शुरुआती बढ़त मिल गई। मिडफील्डर जर्मनप्रीत सिंह ने बाएं फ्लैंक पर एक लंबा थ्रू पास आगे की तरफ डाला, जिसे मिर्लान ने तेजी से दौड़ते हुए गेंद को अपने नियंत्रण में लिया और अपने दाहिने आते हुए बेंगलुरू के डिफेंडर को काटने के बाद सामने से राइट फुटर शॉट लगाकर गोल कर दिया। किर्गिस्तानी विंगर ने सरमरसॉल्ट लगाकर इस गोल का जश्न कुछ अलग ही अंदाज में मनाया। 39वें मिनट में बेंगलुरू को पेनल्टी किक के रूप में बराबरी का एक सुनहरा अवसर मिला, जिसे ब्राजीली फॉरवर्ड क्लीटन सिल्वा ने राइट फुटर शॉट लगाकर गोल में तब्दील किया और स्कोर 1-1 हो गया। यह पेनल्टी किक उस समय मिला, बायीं तरफ से आशिक कुरियन ने बॉक्स के बाहर से शॉट लगाया लेकिन इसे रोकने के दौरान बॉक्स के अंदर जेरी लालरिंजुआला के हाथ पर गेंद लग गई। रेफरी राहुल गुप्ता ने पेनाल्टी किक देने में देर नहीं की।

43वें मिनट में एलेन कोस्टा के गोल से बेंगलुरू ने 2-1 की बढ़त बना ली। एक कॉर्नर किक पर क्लीटन सिल्वा ने बेहतरीन बॉल बॉक्स के अंदर डाली लेकिन चेन्नइयन के गोलकीपर विशाल कैथ पंच करने से चूके और ब्राजीली डिफेंडर कोस्टा के कंधे से डिफ्लेक्ट होने के बाद गेंद गोलपोस्ट की ओर चली गई। मध्यांतर के बाद तीसरे मिनट में ही रहीम अली के गोल से चेन्नइयन को 2-2 की बराबरी मिल गई। 49वें मिनट में मिर्लान मुर्जाएव ने बायीं तरफ बॉक्स के अंदर गेंद को चेस्ट पर लेकर नियंत्रित किया और क्रॉस रहीम अली की ओर डाला। चेन्नइयन के फॉरवर्ड ने लेफ्ट फुटर शॉट लगाया और गेंद बेंगलुरू के डिफेंडरों से डिफ्लेक्ट होकर गोलकीपर गुरप्रीत सिंह संधू को गच्चा देकर गोलपोस्ट के अंदर चली गई।

70वें मिनट में स्थानापन्न खिलाड़ी उदांता सिंह ने गोल करके बेंगलुरू को फिर से बढ़त दिलाकर स्कोर 3-2 कर दिया। बाएं फ्लैंक से बॉक्स के अंदर से दानिशा फारुख के क्रॉस पर उदांता ने दूसरे टच में राइट फुटर शॉट लगाया और गेंद डाइव लगाते विशाल कैथ के दाहिनी तरफ से निकल गई। 74वें मिनट में एक और स्थानापन्न खिलाड़ी प्रतीक चौधरी के गोल से बेंगलुरू एफसी की बढ़त 4-2 हो गई। इस गोल में चेन्नइयन के गोलकीपर विशाल कैथ की खराब कीपिंग की मुख्य भूमिका रही। एक कॉर्नर किक पर विशाल सही ढंग से गेंद लपक नहीं सके। गेंद उनके ग्लब्स से छिटकी और रामिरेज के हैडर ने प्रतीक के लिए मौका बनाया और उन्होंने बाएं पैर से गेंद को गोलपोस्ट के अंदर पहुंचा दिया।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *