Indian Super League : ईस्ट बंगाल का 6 मैचों के बाद भी नहीं खुला जीत का खाता, केरला ब्लास्टर्स ने ड्रॉ पर रोका

गोवा, 13 दिसंबर । एससी ईस्ट बंगाल हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के आठवें सीजन में छह मैचों के बाद भी जीत का अपना खाता नहीं खोल पाई। ईस्ट बंगाल को रविवार को वॉस्को के तिलक मैदान स्टेडियम में खेले गए सीजन के अपने छठे मैच में केरला ब्लास्टर्स के खिलाफ 1-1 से ड्रॉ खेलना पड़ा।

इस सीजन के 27वें मुकाबले में एससी ईस्ट बंगाल के लिए कप्तान टोमिस्लाव मर्सेला ने 37वें मिनट में जबकि केरला ब्लास्टर्स के लिए अल्वारो वेक्वेज ने 44वें मिनट में गोल दागा। एससी ईस्ट बंगाल की छह मैचों में यह तीसरा ड्रॉ है जबकि तीन में उसे हार मिली है। टीम तीन अंकों के साथ तालिका में सबसे नीचे 11वें नंबर पर है। केरला ब्लास्टर्स को पांच मैचों में तीसरी बार अंक बांटने के लिए मजबूर होना पड़ा है। टीम के खाते में अभी एक में जीत और एक हार है। केरला अब छह अंकों के साथ सातवें नंबर पर पहुंचा है।

मैच के 15वें मिनट में ही हाई वोल्टेज ड्रॉमा देखने को मिला। स्पेनिश फॉरवर्ड अल्वारो वैक्वेज ने शानदार गोल करते हुए केरला ब्लास्टर्स को मुकाबले में 1-0 से आगे कर दिया और खिलाड़ी इसका जश्न मनाने लगे। लेकिन तभी ईस्ट बंगाल ने इसका विरोध किया और रेफरी ने अपने असिस्टेंस के साथ मिलकर इस गोल को खारिज कर दिया। इसके बाद मैच के 23वें मिनट में ईस्ट बंगाल के अमरजीत कियाम को येलो कार्ड दिखाया गया। 35वें मिनट तक केरला ब्लास्टर्स 65 प्रतिशत बॉल पजेशन के साथ खेल रही थी, लेकिन एक भी गोल देखने को नहीं मिला।

हालांकि इसके तुरंत बाद ही कप्तान टोमिस्लाव मर्सेला ने बेहतरीन गोल करते हुए एससी ईस्ट बंगाल को 1-0 की बढ़त दिला दी। मैच के 37वें मिनट में किए इस गोल में राजू गायकवाड का भी असिस्ट रहा। लेकिन बंगाल की यह बढ़त ज्यादा देर तक कायत नहीं रह पाई और केरला ब्लास्टर्स ने 44वें मिनट में ही 1-1 की बराबरी हासिल कर ली। केरला के लिए यह गोल उसके खिलाड़ी ने नहीं बल्कि एससी ईस्ट बंगाल के कप्तान मर्सेला ने ही किया। केरला के वेक्वेज बॉल को लेकर बॉक्स में पहुंचे। लेकिन बॉल मर्सेला से डिफ्लेक्ट होकर गोलपोस्ट में पहुंच गई। मर्सेला के इस आत्मघाती गोल ने हाफ टाइम तक केरला को बराबरी पर ला खड़ा कर दिया। हालांकि बाद में यह गोल केरला ब्लास्टर्स के स्पेनिश फॉरवर्ड अल्वारो वेक्वेज के नाम ही दर्ज किया गया।

दूसरे हाफ में ईस्ट बंगाल ने धमाकेदार शुरुआत की और केरला पर दबाव बनाना शुरू कर दिया। 61वें मिनट में केरला ने एक बदलाव किया और निशू कुमार को मैदान के अंदर बुलाया। चार मिनट बाद ही ईस्ट बंगाल के लालरिंनियाना नाम्ते को येलो कार्ड दिखाया गया। नाम्ते इसके बराद बाहर चले गए और बिकाश जायरू ने उनकी जगह लिया। 77वें मिनट में वेक्वेज ने एक बड़ा हमला बोला। लेकिन उनका यह शॉट गोल पोस्ट के ऊपर से निकल गया। 80वें मिनट में केरला ने एक और बदलाव किया। इसके आठ मिनट बाद ही केरला ब्लास्टर्स के फॉरवर्ड एड्रियन लुना ने बॉल शानदार तरीके से ईस्ट बंगाल के गोल पोस्ट में पहुंचा दिया था। लेकिन रेफरी ने इसे आफसाइड करार दे दिया। इंजुरी टाइम तक भी दोनों टीमें बढ़त नहीं बना पाई और इसके बाद मैच में पांच मिनट का समय और जोड़ा गया। इंजुरी टाइम में दोनेां टीमें बढ़त नहीं ले पाई और उन्हें अंक बांटने के लिए मजबूर होना पड़ा।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *