IPL : जीत की लय पर लौटने उतरेंगे मुंबई और पंजाब

अबु धाबी, 30 सितंबर : कप्तान रोहित शर्मा की मुंबई इंडियंस और लोकेश राहुल के नेतृत्व वाली किंग्स इलेवन पंजाब की टीमें पिछली हार को भुलाकर गुरुवार को होने वाले आईपीएल मुकाबले में जीत की लय पर लौटने उतरेंगे।

दोनों ही टीमों को अपने-अपने पिछले मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा था। मुंबई को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के हाथों सुपर ओवर में जबकि पंजाब को राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ बड़े स्कोर वाले मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा था। मुंबई की तीन मैचों में यह दूसरी हार थी और वह दो अंकों के साथ पांचवें स्थान है। पंजाब की टीम तीन मैचोंं में एक जीत, दो हार के साथ दो अंक लेकर चौथे स्थान पर मौजूद है। दोनों टीमों की कोशिश पिछली हार को भुलाकर तथा गलतियों से सीख लेकर जीत की राह पर लौटने की होगी।

पंजाब के लिए कप्तान राहुल का फॉर्म में रहना राहत की बात है। उन्होंने राजस्थान के खिलाफ सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल के साथ मिलकर जिस तरह पहले विकेट के लिए 183 रन की रिकॉर्ड साझेदारी की थी वो अविश्वसनीय था। पंजाब ने राजस्थान के गेंदबाजों की जमकर धुलाई की थी और 223 रनों का मजबूत स्कोर खड़ा किया था।हालांकि पंजाब के गेंदबाज इस विशाल स्कोर का बचाव नहीं कर पाए थे और राजस्थान ने तीन गेंद शेष रहते ही मैच समाप्त कर दिया था। इस मुकाबले में राहुल तेवतिया के एक ओवर में मारे गए पांच छक्कों ने उन्हें रातों रात नया स्टार बना दिया था।

पिछले मुकाबले में पंजाब की बल्लेबाजी में एक गजब संतुलन नजर आया था। मध्यक्रम में ग्लेन मैक्सवेल और निकोलस पूरन ने मजबूत शुरुआत का अंत जोरदार तरीके से किया था। हालांकि मैक्सवेल अभी तक बड़ी पारी नहीं खेल सके हैं लेकिन पूरन ने अपनी जिम्मेदारी बखूबी निभाई थी।

मुंबई को अगर जीत की राह पर लौटना है तो उसे राहुल और मयंक को बड़ी साझेदारी करने से रोकना होगा तथा पंजाब के बल्लेबाजों को कम से कम स्कोर पर रोकना होगा। पंजाब के लिए हालांकि उसकी गेंदबाजी चिंता का सबब है जो 223 रन के बड़े लक्ष्य का बचाव करने में विफल रही थी।

मुंबई का बल्लेबाजी क्रम बेहद मजबूत है ऐसे में पंजाब को गेंदबाजी विभाग में सुधार करना होगा नहीं तो कोई भी स्कोर उसके लिए कम ही साबित होगा। पंजाब की ओर से शेल्डन कॉट्रेल पिछले मुकाबले में काफी महंगे साबित हुए थे और उन्होंने तीन ओवर में 52 रन लुटाकर एक विकेट लिया था। मुंबई ने पिछले मुकाबले में जिस तरह 202 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए शुरुआत में लड़खड़ाने के बाद वापसी की थी वो काबिले तारीफ है। हालांकि उसका शीर्ष क्रम बेंगलुरु के खिलाफ पूरी तरह फ्लॉप रहा था लेकिन मध्यक्रम में ईशान किशन (99) और कीरोन पोलार्ड (नाबाद 60) ने मैच का पासा पलट दिया था।

एक समय एकतरफा जीत हासिल करने की कगार पर पहुंच चुकी बेंगलुरु की टीम अंत के ओवरों में मैच गंवाने की स्थिति पर पहुंच गयी थी। लेकिन 20वें ओवर की पांचवें गेंद पर किशन के आउट होने से उसने राहत की सांस ली और मुकाबले का फैसला सुपर ओवर में जाकर हुआ जहां मुंबई को हार का सामना करना पड़ा।

मुंबई के लिए ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या की खराब फॉर्म चिंता की बात बनती जा रही है जो तीनों मुकाबले में बड़ी पारी खेलने में नाकाम रहे हैं। पांड्या ने अबु धाबी में चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ 14 और कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ 18 रन बनाए थे जबकि दुबई में सोमवार को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के खिलाफ वह 15 रन ही बना पाए थे।

पांड्या को बेंगलुरु के खिलाफ स्कोर टाई हो जाने के बाद सुपर ओवर में कीरोन पोलार्ड के साथ भेजा गया था लेकिन दो विस्फोटक बल्लेबाज मिलकर सात रन ही बना सके थे। मुंबई हालांकि पीठ में सर्जरी के कारण पांड्या से गेंदबाजी नहीं करा रही है ऐसे में उन्हें जल्द वापसी करनी होगी जिससे शीर्ष क्रम के लड़खड़ाने पर वह टीम को संभाल सकें।

मुंबई के गेंदबाज भी पिछले मुकाबले में विफल रहे थे और रोहित को जल्द से जल्द अपनी इन कमियों में सुधार लाना होगा। दोनों टीमों की स्थिति फिलहाल एक जैसी है और मुकाबला बराबरी का है। लेकिन पंजाब को गत चैंपियन मुंबई के खिलाफ किसी भी गलती से बचना होगा और बल्लेबाजी के साथ-साथ गेंदबाजी में भी बेहतर करना होगा।

शोभित राज, वार्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *