ISKON CHIEF : बंगलादेशी हिंदुओं को सुरक्षा प्रदान करे शेख हसीना

Insight Online news

ढाका, 25 अक्टूबर : बंगलादेश में इस्कॉन के प्रमुख चारु चंद दास ब्रह्मचारी ने देश में हिंदुओं पर हो रहे हमलों को लेकर बंगलादेश सरकार की आलोचना की और प्रधानमंत्री शेख हसीना से यहां रह रहे अल्पसंख्यक समुदाय को सुरक्षा मुहैया कराने की मांग की है।

इस्कॉन प्रमुख दास ने यूनीवार्ता से रविवार को कहा, “शेख हसीना की सरकार के कार्यकाल में हिंदुओं की संपत्ति जब्त की गई है। बंगलादेश में गोपालगंज के कोटलीपारा समेत बरीसाल और रंगपुर जिलों के हिंदुओं के घरों को भी आग के हवाले किया गया है।”

उन्होंने कहा, “मुझे यह कहने में तनिक भी संकोच नहीं है कि कोटलीपारा निर्वाचन क्षेत्र से प्रधानमंत्री शेख हसीना के सांसद होने के बावजूद यहां हिंदुओं पर हमले हुए हैं। मैंने शेख हसीना की सरकार से हमें सुरक्षा मुहैया कराने की मांग की है और क्षतिग्रस्त मंदिरों की भी मरम्मत कराए जाने का आग्रह किया है।”

इस्कॉन प्रमुख ने इस बात पर जोर दिया कि हिंदुओं पर अत्याचार केवल प्रधानमंत्री हसीना के नेतृत्व वाली सरकार के कार्यकाल के दौरान ही नहीं, बल्कि पिछली सरकारों के दौरान भी होते रहे हैं।

उन्होंने कहा, “ऐसी कई घटनाएं हैं, जहां आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है, लेकिन कानून में खामी होने की वजह से ये रिहा हो गए हैं और इनका फिर से बदला लेने का सिलसिला शुरू हो गया है।”

कुमिल्ला की घटना पर उन्होंने कहा, “मुझे संदेह है कि इस घटना के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया आरोपी दोषी है भी या नहीं। हमने बंगलादेश हिंदू बौद्ध ईसाई एकता परिषद की ओर से ढाका के शाहबाग में मानव श्रृंखला का आयोजन किया था, जहां मैंने कुमिल्ला की घटना को लेकर अपनी चिंता व्यक्त की थी।

इस्कॉन प्रमुख ने कहा, “कुमिल्ला में हुआ वाक्या एक सोची-समझी साजिश थी। कानून प्रवर्तन एजेंसियों की इसमें पूरी विफलता दिखाई दे रही है। क्या शेख हसीना की सरकार के जासूसों को इस मामले की पहले से जानकारी नहीं थी? मुझे लगता है कि सरकार की खुफिया एजेंसियों की पूरी विफलता दिखाई दे रही है।”

उन्होंने कहा, “मैं यह नहीं कह सकता कि यह घटना राजनीतिक है या नहीं। लेकिन मैं दोषियों को सजा देने की मांग कर रहा हूं।”

श्री दास ने कहा, बंगलादेश में लोग समझते हैं कि हिंदू का मतलब अवामी लीग है। उन्होंने कहा, “मैं इसका विरोध कर रहा हूं। यह सोचना सही नहीं है कि हिंदू है, तो वह अवामी लीग का ही समर्थक होगा।”
उन्होंने कहा, “सत्तारूढ़ अवामी लीग के कई सदस्य हिंदुओं की संपत्ति को लूट रहे हैं। अवामी लीग अब पहले से ज्यादा खतरनाक है। हमारे लिए इस पर विश्वास करना कठिन हो गया है।”

अरिजीता, उप्रेती, वार्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *