ISL Football Update : सेमीफाइनल-1, फर्स्ट लेग, प्लेऑफ कर्टन रेजर में आमने-सामने होंगे मुम्बई, गोवा

गोवा, 05 मार्च । अपने प्रदर्शन को लेकर हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के इतिहास में सबसे अधिक निरंतरता रखने वाली एफसी गोवा ने रिकॉर्ड छठी बार आईएसएल के प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई किया है। लेकिन टीम अब तक एक बार भी आईएसएल खिताब नहीं जीत पाई है। इसके अलावा उसे दो बार फाइनल में हार का सामना करना पड़ा है।

गौर्स के नाम से मशहूर गोवा के पास अब पहली बार आईएसएल ट्रॉफी उठाने का मौका है और इसी मौके की तलाश में आगे बढ़ते हुए गोवा को सातवें सीजन के पहले सेमीफाइनल के पहले लेग में शुक्रवार को यहां फातोर्दा के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में टेबल टॉपर और लीग शीर्ल्ड विनर्स मुम्बई सिटी एफसी से भिड़ना है।

लगातार चौथी बार प्लेऑफ में पहुंचने वाली गोवा सीजन में सर्वाधिक गोल करने के मामले में मुम्बई सिटी एफसी के बाद नॉर्थईस्ट युनाइटेड के साथ संयुक्त रूप से दूसरे नंबर पर रही है। टीम पिछले 13 मैचों से अजेय चल रही है।

एफसी गोवा के कोच जुआन फेरांडो ने कहा, ‘‘ अगर हम खेल का आनंद लेते हैं, तो हमें सफलता मिलेगी। कभी-कभी दबाव होता है क्योंकि हर कोई जीतना चाहता है, लेकिन मेरे लिए, हमारे खिलाड़ी (हमारे तरीके से) खेलना चाहते हैं। मुझे डर लगता है जब मेरी टीम (अपने तरीके) से फुटबॉल नहीं खेल रही होती है, तो टीम की मदद करना मुश्किल है। लेकिन हमारे सभी खिलाड़ी अपनी शैली के अनुसार खेलना चाहते हैं।’’

दूसरी तरफ, मुम्बई सिटी एफसी की टीम इस सीजन में अब तक सर्वाधिक 35 गोल दाग चुकी है। लेकिन कोच सर्जियो लोबेरा की टीम अपने प्रदर्शन में और ज्यादा सुधार करना चाहेगी।

लोबेरा ने कहा, ‘‘ जब कोई दूसरा मुम्बई सिटी को दावेदार बताता है तो मुझे खुशी होती है क्योंकि हम सोचते हैं कि हम उनसे बेहतर हैं। यह हमारे लिए अच्छा है। मुझे यह दबाव पसंद है। लेकिन पिच पर हमें खुद को साबित करना होगा।’’

फेरांडो की तरह ही लोबेरा भी चाहते हैं कि उनके खिलाड़ी खुद पर दबाव महसूस होने न दें और इस मैच का आनंद लें।

उन्होंने कहा, ‘‘ यह एक महत्वपूर्ण मुकाबला है। हमें स्मार्ट और 180 मिनट तक खेलने के लिए तैयार रहना होगा। हम इस मुकाबले को लेकर उत्साहित हैं और मुझे उम्मीद है कि इस चुनौती का आनंद लेंगे।’’ मुम्बई सिटी एफसी के लिए अमे रेनवेड इस मुकाबले में नहीं खेल पाएंगे जबकि हुगो बोउमस की चार मैचों के निलंबन के बाद वापसी हुई है।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *