झारखंड विधानसभा मानसून सत्र : हेमंत सोरेन के इस्तीफे की मांग कर रहे 4 भाजपा विधायकों को स्पीकर ने सदन से किया निलंबित

Insight Online News

रांची। झारखंड विधानसभा का मानसून सत्र चल रहा है। विधानसभा में स्पीकर ने भारतीय जनता पार्टी के विधायक भानु प्रताप शाही, ढुल्लू महतो, जयप्रकाश भाई पटेल और रणधीर सिंह को निलंबित किया। स्पीकर ने विधायकों को दो दिन के लिए निलंबित कर दिया। मिली जानकारी के अनुसार सदन में यह लोग भ्रष्टाचार के मुद्दों पर चर्चा चाहते थे। इसके अलावा ये विधायक सीएम हेमंत सोरेन के इस्तीफे की मांग कर रहे थे।

बीजेपी ने हेमंत सोरेन पर खान खनिज लुटने व लुटवाने का आरोप लगाया है। खनन लीज मामले में हेमंत की मुश्किलें बढ़ सकती हैं, उनके विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा को अवैध खनन मामले में ईडी ने गिरफ्तार किया है। उनके मीडिया सलाहकार अभिषेक उर्फ पिंटू को ईडी ने अवैध खनन मामले में पूछताछ के लिए भी बुलाया है. इन्हीं सब मुद्दों पर बीजेपी विधायक सदन में हंगामा कर रहे थे और चर्चा चाहते थे लेकिन उनको दो दिन के लिए निलबिंत कर दिया गया है।

झारखंड विधानसभा में सूखे पर चर्चा के बीच BJP ने किया वॉकआउट
वहीं सोमवार को राज्य में सूखे जैसी स्थिति पर विशेष चर्चा हुई, जबकि बीजेपी विधायकों ने राज्य को चर्चा से पहले सूखाग्रस्त घोषित करने की मांग को लेकर बहिर्गमन किया। अपराह्न दो बजे भोजन अवकाश के बाद सदन का कामकाज फिर से शुरू हुआ। भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के विधायक किसानों की वेशभूषा में आसन के समक्ष पहुंच गए और झारखंड को तुरंत सूखा प्रभावित घोषित करने की मांग करने लगे।

विधानसभा अध्यक्ष ने आश्वासन दिया कि चर्चा के बाद सरकार द्वारा इसकी घोषणा की जाएगी। इसके बाद उन्होंने कार्यवाही शुरू की। विधायक प्रदीप यादव ने जैसे ही इस मुद्दे पर अपनी बात रखी, बीजेपी विधायक सदन से बहिर्गमन कर गए. झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बीजेपी विधायकों पर तंज कसते हुए कहा, ‘‘मैं उन्हें (बीजेपी विधायकों को) सुबह से नए कपड़ों में देख रहा हूं। लेकिन, वे असली किसान नहीं हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.