Jharkhand : 1932 खतियान आधारित स्थानीयता और आरक्षण विधेयक पास होने पर झारखंड में जश्न

मुख्यमंत्री का केंद्रीय सरना समिति और सरना प्रार्थना सभा ने किया जोरदार स्वागत और अभिनंदन

रांची, 11 नवंबर। 1932 खतियान आधारित स्थानीयता और नियुक्ति तथा सेवाओं में आरक्षण वृद्धि का विधेयक झारखंड विधान सभा से पारित होने पर झारखंड वासियों में इतना उत्साह उमंग उल्लास और खुशी है। इसकी बानगी मुख्यमंत्री आवासीय कार्यालय परिसर में भी देखने को मिली। इस ऐतिहासिक पहल के लिए केंद्रीय सरना समिति और सरना प्रार्थना सभा ने मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन का जोरदार स्वागत और अभिनंदन किया।

मौके पर उन्होंने खूब जयकारे लगाए । एक -दूसरे को अबीर -गुलाल लगाकर खुशियों को इजहार किया। वहीं, आतिशबाजी कर जश्न मनाया। मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड और झारखंड वासियों के मान -सम्मान और अस्मिता के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। इन दोनों विधेयकों को पारित कर हमारी सरकार आदिवासियों- मूलवासियों को उनका हक और अधिकार देने का कार्य किया है। झारखंड विकास के रास्ते पर आगे बढ़ चुका है और यह सिलसिला नही थमेगा।

हिन्दुस्थान समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *