Jharkhand : सीएम ने की उच्च, तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास विभाग के नीतिगत विषयों की समीक्षा

रांची :  झारखंड मंत्रालय में उच्च, तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास विभाग के नीतिगत विषयों की मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन ने की समीक्षा.

पुराने प्रस्ताव पर ही आगे कार्य बढ़ायें- मुख्यमंत्री

झारखंड मंत्रालय में रांची स्मार्ट सिटी मिशन के तहत केंद्र औऱ राज्य के मद से व्यय किए जाने और जमशेदपुर को इंडस्ट्रियल टाउनशिप घोषित करने की समीक्षा बैठक मंत्रालय में नगर विकास सचिव के साथ समीक्षा बैठक मुख्यमंत्री ने की. समीक्षा बैठक के बाद नगर विकास सचिव ने कहा दो कन्वेंशन सेंटर का कार्य जो होल्ड पर था उसे आगे बढ़ाने का निर्देश मुख्यमंत्री ने दिया. वहीं स्मार्ट रोड को पथ निर्माण विभाग को सौपने की बात कही. वहीं जमशेदपुर को इंडस्ट्रियल टाउनशिप में लाने को लेकर की गई समीक्षा बैठक को लेकर सचिव ने कहा कि टाटा के द्वारा लाए गए प्रस्ताव व्यवहारिक नहीं लगे. इसलिए पुराने प्रस्ताव पर ही आगे कार्य बढ़ाने की बात मुख्यमंत्री ने कही.

कन्वेंशन सेंटर की उपयोगिता राज्य हित में हो

मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन ने कहा कि स्मार्ट सिटी परियोजना के अंतर्गत रांची में बनने वाले कन्वेंशन सेंटर को रीडिजाइन कर सचिवालय का निर्माण किया जाए। कन्वेंशन सेंटर की उपयोगिता राज्य हित में हो यह सरकार की प्राथमिकता होनी चाहिए। सात एकड़ में बनने वाला कन्वेंशन सेंटर सचिवालय निर्माण के लिए उपयुक्त है। मुख्यमंत्री ने स्मार्ट सिटी के तहत निर्मित होने वाले अर्बन सिविक टावर की कार्य प्रगति की जानकारी लेते हुए निर्देश दिया कि अस्थायी रूप से काम पर लगे रोक को हटाते हुए इस टॉवर का निर्माण कार्य तत्काल प्रारंभ किया जाए। निर्माण कार्य प्रारंभ होते ही ऑक्शन की प्रक्रिया भी शुरू हो। उक्त बातें मुख्यमंत्री ने आज झारखण्ड मंत्रालय में रांची स्मार्ट सिटी मिशन अंतर्गत भारत सरकार एवं राज्य मद से व्यय किए जाने के मामले की समीक्षा करते हुए कहीं।

प्रेजेंटेशन के माध्यम से स्मार्ट सिटी के कार्य प्रगति की  जानकारी दी

नगर विकास एवं आवास विभाग के सचिव श्री विनय कुमार चौबे ने मुख्यमंत्री के समक्ष स्मार्ट सिटी परियोजना के अंतर्गत हो रहे विभिन्न कार्य प्रगति की बिंदुवार जानकारी प्रेजेंटेशन के माध्यम से दी। विभागीय सचिव ने मुख्यमंत्री को अवगत कराया कि करम टोली तालाब एवं अटल वेंडर मार्केट का काम पूर्ण किया जा चुका है। मुख्यमंत्री को एचईसी क्षेत्र में बन रहे स्मार्ट सिटी परिसर की विस्तृत जानकारी दी गई। मुख्यमंत्री ने इंटीग्रेटेड इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट के तहत बन रहे सड़क, ड्रिंकिंग वाटर पाइपलाइन, सीवरेज पाइपलाइन एवं ट्रांसमिशन लाइन इत्यादि पर कंपनी द्वारा किए जा रहे कार्य की जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने बैठक में अधिकारियों से कहा कि जो भी इंफ्रास्ट्रक्चर स्मार्ट सिटी योजना के अंतर्गत बन रहे हैं उन इंफ्रास्ट्रक्चर का अधिक से अधिक इस्तेमाल जनता से जुड़ी समस्याओं के समाधान के रूप में हो। यह हम सभी की प्राथमिकता होनी चाहिए। सभी कार्य आम जनता के हित को देखते हुए करने की आवश्यकता है।

स्मार्ट सिटी के अंतर्गत राज्य मद से 13 योजनाओं पर हो रहा है काम

बैठक में मुख्यमंत्री के समक्ष यह जानकारी दी गई कि स्मार्ट सिटी के तहत राज्य मद से 13 योजनाओं पर कार्य किया जा रहा है। मुख्यमंत्री को कंट्रोल एंड कम्युनिकेशन सेंटर की जानकारी दी गई। मुख्यमंत्री ने कहा कि कमांड कंट्रोल कम्यूनिकेशन सेंटर को पब्लिक फ्रेंडली बनाया जाए। उन्होंने कहा कि रांची शहर में स्थापित हो रहे सेंटर जनउपयोगी बने, इसका पूरा ख्याल रखा जाए। इस सेंटर के निर्माण से शहर की यातायात प्रबंधन से लेकर त्वरित आपातकालीन सेवा सुनिश्चित करने में मदद मिलेगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रथम चरण में कंवेंशन सेंटर और झारखंड अर्बन प्लानिंग एंड मैनेजमेंट इंस्टीच्यूट (जुपमी) का निर्माण प्रगति पर है। स्मार्ट सिटी एरिया को जनता की जरूरतों के हिसाब से विकसित करें।
प्रेजेंटेशन में नगर विकास एवं आवास विभाग के सचिव द्वारा मुख्यमंत्री के समक्ष डाटा सेंटर, बिरसा मुंडा जेल का रिनोवेशन कार्य प्रगति, बिरसा मुंडा स्मृति पार्क, रविंद्र भवन, हरमू नदी सौंदर्यीकरण एवं स्मार्ट रोड सहित अन्य योजनाओं की कार्य प्रगति पर विस्तृत प्रकाश डाला गया।
बैठक में मुख्य सचिव श्री सुखदेव सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री राजीव अरुण एक्का, नगर विकास एवं आवास विभाग के सचिव श्री विनय कुमार चौबे, राजस्व विभाग के सचिव श्री केके सोन, महाप्रबंधक रांची स्मार्ट सिटी कॉरपोरेशन श्री राकेश कुमार नंद कुलियार, परियोजना निदेशक तकनीकी, जुडको श्री रमेश कुमार सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

इनसाइटऑनलाईनन्यूज/एजेन्सी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *